अपना शहर चुनें

States

नान घोटाले में आरोपी रेखा नायर की नियुक्ति पर उठे सवाल, EOW करेगी सर्विस बुक की जांच

demo pic
demo pic

मुकेश गुप्ता की स्टेनो रही रेखा नायर ने करोड़ों रुपए की संपत्ति आर्जित की है जिसे लेकर ईओडबल्यू ने मामला दर्ज किया है.

  • Share this:
छत्तीसगढ़ के बहुचर्चित नागरिक आपूर्ति निगम घोटाला मामले में आरोपी रेखा नायर की नियुक्ति पर ही अब सवाल खड़े हो गए है. ईओडबल्यू अब रेखा नायर की नियुक्ति की जांच करने वाला है. जानकारी के मुताबिक ईओडबल्यू ने दुर्ग एसपी को एक पत्र लिखा है. पत्र में रेखा नायर की सर्विस बुक मांगी गई है. ईओडबल्यू अब नायर की नियुक्ति से जुड़ी सभी तथ्यों को खंगालने में लग गई है. बता दें कि दुर्ग पुलिस ने ही रेखा नायर की पोस्टिंग की थी. बता दें, मुकेश गुप्ता की स्टेनो रही रेखा नायर ने करोड़ों रुपए की संपत्ति आर्जित की है जिसे लेकर ईओडबल्यू ने मामला दर्ज किया है.

बता दें कि बुधवार को ईओडबल्यू ने आईपीएस मुकेश गुप्ता की स्टेनो रह चुकी रेखा नायर को काम पर लौटने के लिए नोटिस जारी किया था. नोटिस के मुताबिक रेखा नायर को सात दिन का वक्त दिया गया है. ईओडबल्यू डीजी बीके सिंह ने अखबारों में सार्वजनिक इश्तहार प्रकाशित कर रेखा नायर को अंतिम अवसर दिया है. नोटिस में 7 दिन के भीतर उपस्थित होने के निर्देश दिए गए थे.

गौरतलब हो कि बहुचर्चित नागरिक आपूर्ति निगम घोटाले में कथित तौर पर 36 हजार करोड़ रुपये की गड़बड़ी का आरोप है. साल 2015 में सामने आए इस घोटाले में कई हाई प्रोफाइल लोगों के शामिल होने की आशंका है. सूबे में कांग्रेस की सरकार बनने के बाद मामले में नए सिरे से जांच के लिए एसआईटी का गठन किया है. एसआईटी गठन के बाद तब ईओडब्ल्यू के प्रमुख रहे डीजी मुकेश गुप्ता को निलंबित कर दिया गया है. मामले में रेखा नायर को भी आरोपी बनाया गया है.



ये भी पढ़ें:
लोकसभा चुनाव 2019: ...तो क्या इस वजह से रिटायर्ड अफसरों का राजनीति से हो रहा 'मोहभंग'? 

लोकसभा चुनाव 2019: कांग्रेस का बड़ा आरोप, भाजपा के पास नहीं है प्रचार के लिए संसाधन 

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स    
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज