पढ़िये- होनहार छात्रा की एक तरफा प्यार में हत्या की दिल दहला देने वाली CRIME स्टोरी

पुलिस के मुताबिक अपचारी पर एकतरफा प्यार का परवान 13 साल की उम्र में चढ़ा था. पढ़ाई-लिखाई में होनहार नाबालिग मृतका ने उसे हमेशा इग्नोर किया.

News18 Chhattisgarh
Updated: June 17, 2019, 12:27 PM IST
पढ़िये- होनहार छात्रा की एक तरफा प्यार में हत्या की दिल दहला देने वाली CRIME स्टोरी
पुलिस के मुताबिक अपचारी पर एकतरफा प्यार का परवान 13 साल की उम्र में चढ़ा था. पढ़ाई-लिखाई में होनहार नाबालिग मृतका ने उसे हमेशा इग्नोर किया.
News18 Chhattisgarh
Updated: June 17, 2019, 12:27 PM IST
छत्तीसगढ़ के दुर्ग जिले के भिलाई में नाबालिग छात्रा की हत्या के एक मामले दिल दहला देने वाला खुलासा पुलिस ने किया. भिलाई के रिसाली मैत्रीकुंज की होनहार छात्रा श्रृंखला यादव पर 13 जून 2019 को जानलेवा हमला हुआ. गंभीर हालत में उसे रायपुर के एक अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां 15 जून को उसकी मौत हो गई. इस मामले में एक नाबालिग को पुलिस ने गिरफ्तार किया है. हत्या के मामले का विचाराधीन भी रिसाली का रहने वाला है. वह स्कूल में मृतका का क्लासमेट था.

पुलिस के मुताबिक अपचारी (हत्या के मामले का विचाराधीन) पर एकतरफा प्यार का परवान 13 साल की उम्र में चढ़ा था. पढ़ाई-लिखाई में होनहार नाबालिग मृतका ने उसे हमेशा इग्नोर किया. ट्यूशन में छात्रा के सहपाठियों से बातचीत को अपचारी ने दिल से लगा लिया और उसकी हत्या के लिए प्लानिंग कर बैठा. इसके चलते घटना वाले दिन अपचारी पहले से ही अपनी स्कूटी में कुदाल रखकर लाया था. उसने छात्रा को मिट्टी परीक्षण केंद्र के पास गांधीपुरम में रोका और उसपर कुदाली से हमला कर दिया. हमले के बाद छात्रा अचेत हो गई.

पहचान छिपाने मुंह को ढंका
पुलिस के मुताबिक घटना उजागर होने के बाद वारदात से पहले और बाद में अलग-अलग दो महिला चश्मदीदों ने अपचारी को मौके पर देखा था. हालांकि उस दौरान आरोपी ने अपनी पहचान छुपाने के लिए मुंह ढंक रखा था, लेकिन प्रकरण का खुलासा करने में पुलिस दोनों महिलाओं से काफी मदद मिली. वारदात को अंजाम देने के बाद आरोपी कुदाल को घटनास्थल के पास ही फेंक गया था. करीब दो दिनों तक इत्मीनान से पुलिस की गतिविधियों पर नजर रखने लगा. पुलिस ने हत्यारे को रिसाली मैदान से पकड़ा.

हमले के बाद 100 मीटर तक घसीटा
पुलिस के मुताबिक अपचारी ने मृतका को मिट्टी परीक्षण केंद्र के पास गांधीपुरम में रोका और उसपर कुदाल से हमला कर दिया. इसके बाद उसे 100 मीटर घसीटकर फेंका. दुर्ग जिला पंचायत अध्यक्ष माया बेलचंदन का घर भी रिसाली मैत्रीकुंज में है. उन्होंने पुलिस को बताया कि 13 जून को जिला पंचायत से घर लौटते समय अपचारी को देखा था. मिट्टी परीक्षण केंद्र के पास एक घर के बाजू से मुंह पर स्कार्फ बांधे सुनसान सड़क पर खड़ा हुआ था. अंदेशा होने पर उन्होंने ड्राइवर को उसके संबंध में पूछताछ करने के लिए बोला. लेकिन ड्राइवर राहगीरों के खुले मैदान में बाथरुम जाने की बात बोलकर वाहन को सीधे घर ले गया. इसके बाद अपचारी ने मौके का फायदा उठाकर वारदात को अंजाम दिया.

छात्रा के ऊपर सोया हत्यारा
Loading...

पुलिस के मुताबिक घटना के बाद मैत्रीकुंज (पश्चिम) निवासी डीपीएस की शिक्षिका भी अपने बच्चे को ट्यूशन छोड़ने के लिए स्कूटी से उसी मार्ग से निकली. उस दौरान आरोपी ने स्कूटी को बीच सड़क पर खड़ा कर रखा था. इसकी वजह वाहन को धीमा करके निकलते समय दूर से मैदान में महिला को दो व्यक्ति एक-दूसरे के ऊपर लेटे हुए दिखाई दिखाई दिए. जबकि उस दौरान आरोपी उसके सिर पर पट्टी बांधने में लगा, लेकिन दोनों को नशे में धुत पड़े व्यक्ति समझकर सीधे निकल गई. कॉलोनी के लोगों ने भी स्कूटी काे वहां पर देखा था.

इस तरह दिया वारदात को अंजाम
पुलिस के मुताबिक 17 वर्षीय अपचारी ने पुलिस को बताया कि 13 जून को करीब 3.30 बजे मिट्टी परीक्षण केंद्र के पास गांधीपुरम में एक मकान से पहले वो मृतका की स्कूटी के आगे खड़ा हो गया. उतरकर उसने बेवजह परेशान करने के बारे में पूछा और स्कूटी की ओर जाने लगी. अपचारी ने अपनी स्कूटी की डिग्गी में रखी कुदाल से छात्रा की सिर के पिछले हिस्से पर ही वार कर दिया. इस पर पूरे घटनाक्रम को एक्सीडेंट का रूप देने के लिए आरोपी ने बीच सड़क पर खड़ी स्कूटी को चलाकर मैदान में लाया और उसे भी वहीं पटक दिया. जबकि कुदाल को एक घर के सामने पेड़-पौधों के बीच पड़ी लकड़ियों में फेंक दिया था.

19 जून को बालिग हो जाएगा अपचारी
पुलिस की मानें तो वारदात को अंजाम देने वाला छात्र 17 साल 11 महीने का है. वह 19 जून को दिन बाद बालिग हो जाएगा. पुलिस ने उसे रिसाली मैदान से गिरफ्तार करके बाल संप्रेक्षण गृह भेज दिया है. उसके खिलाफ हत्या का मामला दर्ज है. पुलिस ने बताया कि वारदात को अंजाम देने के बाद अपचारी पूरी कार्रवाई पर नजर रखे हुए था.

8वीं क्लास में हुआ एकतरफा प्यार
पुलिस के मुताबिक पहली दफा आरोपी ने उसे 8वीं कक्षा में स्कूल में ही देखा. उसके बाद से एक तरफा का पागलपन उसपर सवार हो गया. इसी बीच आरोपी ने छात्र को अपने प्रभाव में लेने की काफी कोशिश की, लेकिन पढ़ाई में शुरू से होनहार रही छात्रा ने कभी ध्यान नहीं दिया. 10वीं की पढ़ाई के दौरान अपचारी की हरकतें इतनी बढ़ गई तो परिजनों ने स्कूल प्रबंधन से भी शिकायत की. इस पर उसकी काउंसलिंग भी कराई गई. हरकतों से बाज न आने पर और पढ़ाई में भी फिसड़्डी साबित होने की वजह से पिछले साल सितंबर में स्कूल प्रबंधन ने टीसी थमा दी.

ये भी पढ़ें: 16 साल की कानूनी लड़ाई के बाद अमिता को मिलेगी हरिशंकर परसाई की रचनाओं की रॉयल्टी 

ये भी पढ़ें: अबूझमाड़ में जान हथेली पर रख लाते हैं राशन 

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स
First published: June 17, 2019, 12:07 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...