दुर्ग में कोरोना से इतनी मौतें कि श्मशान में कम पड़ रही जगह, मर्च्यूरी भी फुल

सांकेतिक तस्वीर.

सांकेतिक तस्वीर.

छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) के दुर्ग (Durg) जिले में कोरोना वायरस (Corona Virus) का संक्रमण अनकंट्रोल होते जा रहा है. आलम ये है कि श्मशान घाट में शवों के अंतिम संस्कार के लिए भी जगह कम पड़ रही है.

  • Share this:
दुर्ग. छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) के दुर्ग (Durg) जिले में कोरोना वायरस (Coronavirus) का संक्रमण अनकंट्रोल होते जा रहा है. आलम ये है कि श्मशान घाट में शवों के अंतिम संस्कार के लिए भी जगह कम पड़ रही है. बेकाबू होते कोरोना पर काबू पाने के लिए प्रशासन हर संभव कोशिश का दावा कर रहा है, लेकिन स्थिति फिलहाल नियंत्रण से बाहर ही नजर आ रही है. बीते शुक्रवार की सुबह दुर्ग जिला अस्पताल की मरच्यूरी से भयावह तस्वीर सामने आई. यहां कुल 22 शव कोरोना के संदिग्ध मरीजों के 12 बाई 18 के कमरे में रखे गए थे. इसमें 8 शव फ्रिजर और शेष 14 शव खुले में बेतरतीब ढंग से पड़े हुए थे.

बताया जा रहा है कि ये सारी मौतें बीते गुरुवार की शाम 4 बजे से शुक्रवार की सुबह 7 बजे के बीच हुईं. मिली जानकारी के मुताबिक जिला अस्पताल में इस समय हालत ऐसी है कि शव रखने की जगह नहीं है. आनन-फानन में शवों को अब प्रशासन ने इधर-उधर जलाना शुरू कर दिया है. दुर्ग कलेक्टर सर्वेश्वर भुरे का कहना है कि प्रशासन स्थिति पर काबू पाने की कोशिश कर रहा है. लोगों को ज्यादा सतर्क रहने की जरूरत है. थोड़ी सी लापरवाही भारी पड़ सकती है.

Youtube Video


शवों के अंतिम संस्कार के इंतजाम
बताया जा रहा है कि दुर्ग के मुक्तिधामों में जगह की कमी के कारण प्रशासन अब 2 अन्य जगहों का चयन भी किया है, जहां शवों का अंतिम संस्कार किया जाएगा. बता दें कि कोरोना के बढ़ते मामलों पर अंकुश लगाने के लिए प्रशासन ने पहले नाईट कर्फ्यू का ऐलान किया, लेकिन अब दुर्ग में 6 अप्रैल से 14 अप्रैल तक संपूर्ण लॉकडाउन का ऐलान कर दिया है. इसके तहत सीमाएं सील करने की कवायद भी प्रशासन द्वारा शुरू कर दी गई है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज