लाइव टीवी

गरीब असहाय लोगों को भरपेट भोजन करवाते है ये नौजवान
Durg News in Hindi

Mithilesh Thakur | News18 Chhattisgarh
Updated: January 8, 2019, 3:44 PM IST
गरीब असहाय लोगों को भरपेट भोजन करवाते है ये नौजवान
जन समर्पण सेवा संस्था के सदस्य

लोक सेवा समपर्ण संस्था के नाम से अब युवाओं का यह संगठन जाना जाता है जिसके दो वर्ष पूरे होने तक करीब 60 हजार से अधिक लोगों को ये भोजन करवा चुके है.

  • Share this:
भूखों को भोजन देना और प्यासे को पानी देना सबसे बड़ा धर्म माना जाता है. ऐसे ही धर्म का पालन करने और गरीब असहाय लोगों को भरपेट भोजन करवाने का बीड़ा दुर्ग शहर के युवाओं ने उठाया है. शहर के युवा एक संगठन बनाकर विगत 2 वर्षों से लगातार यह कार्य कर रहे है ताकि कोई भी भूखा रात में न सोए. लोक सेवा समपर्ण संस्था के नाम से अब युवाओं का यह संगठन जाना जाता है जिसके दो वर्ष पूरे होने तक करीब 60 हजार से अधिक लोगों को ये भोजन करवा चुके है.

दुर्ग रेलवे स्टेशन के सामने ऐसे ही गरीब असहायों की भीड़ रोजाना जमा होती है. इनमे से कुछ ऐसे होते हैं जो चल भी नहीं सकते, तो कुछ ऐसे होते है जिनका कोई नहीं है और न ही इनके पास भोजन की कोई व्यवस्था है. ऐसे ही लोगों को भरपेट भोजन कराने की जिम्मेदारी उठाई है शहर के युवाओं ने जो लगातार दो वर्षो से इन्हें भोजन करा रहे है. युवाओं का अब एक संगठन भी बन गया है जिसे जन समर्पण सेवा संस्था के रूप से भी जाना जाता है. अब इनके साथ शहर के अन्य लोग भी मिलकर इस अच्छे कार्य का हिस्सा बन रहे है.

जन समर्पण सेवा संस्था के सदस्यों का कहना है कि 2 साल पहले नए वर्ष के दौरान संस्था के कुछ सदस्यों ने गरीबों को असहाय रूप से देखा था जिसके बाद इन्हें भोजन कराने का संकल्प लिया गया. उसके बाद से लगातार भोजन कराने का कार्य किया जा रहा है. 2 वर्ष के भीतर करीब 60 हजार से अधिक लोगों को भोजन कराया जा चुका है. इसके साथ-साथ जरूरत मंदों को बैसाखी, कंबल, व्हील चेयर भी वितरित किए जा रहे है. इस कार्य को करके हम सब स्वयं को काफी धन्य मानते है.

ये भी पढ़ें:

कोर्ट के फैसले का मान रखते हुए छत्तीसगढ़ में नियुक्त होंगे संसदीय सचिव: मंत्री मो. अकबर

विवादों में आया धमतरी का जिला अस्पताल, डॉक्टरों पर लगे गंभीर आरोप

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी WhatsApp अपडेट्स  

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए दुर्ग से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 8, 2019, 3:43 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर