नक्सल इलाकों में तैनाती से पहले ही गिरा विदेशी ड्रोन, एक सप्ताह पहले लाया गया था जगदलपुर

छत्तीसगढ़ में विदेशी ड्रोन ट्रायल के दौरान क्षतिग्रस्त, नक्सलियों के खिलाफ अभियान में होना था उपयोग

छत्तीसगढ़ में विदेशी ड्रोन ट्रायल के दौरान क्षतिग्रस्त, नक्सलियों के खिलाफ अभियान में होना था उपयोग

छत्तीसगढ़ में एक सप्ताह पहले ही विदेश से मंगाया गया ड्रोन क्षतिग्रस्त हो गया. इसे नक्सलियों पर निगरानी रखने के लिए विशेष तौर पर मंगाया गया था. इसका ट्रायल किया जा रहा था, तभी नियंत्रण में हुई चूक  के चलते यह एयरपोर्ट की दीवार से टकराकर क्षतिग्रस्त हो गया.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 28, 2021, 8:59 PM IST
  • Share this:
जगदलपुर. छत्तीसगढ़ ( Chhattisgarh) के जगदलपुर ( Jagdalpur) में डीआरडीओ (DRDO) को बढ़ा झटका लगा है. यहां महज एक सप्ताह पहले ही विदेश से मंगाया गया ड्रोन क्षतिग्रस्त हो गया. इसे नक्सलियों पर निगरानी रखने के लिए विशेष तौर पर मंगाया गया था. इसका ट्रायल किया जा रहा था, तभी नियंत्रण में हुई चूक  के चलते यह एयरपोर्ट की दीवार से टकराकर क्षतिग्रस्त हो गया. ड्रोन ( drone) को कितनी क्षति हुई  है इसकी जानकारी के लिए इंजीनियरों की टीम जुटी हुई है.

जानकारी के मुताबिक नक्सलियों के खिलाफ अभियान को लेकर ड्रोन को विदेश से मंगाया गया था. यह बेहद खास और आधुनिक तकनीक से तैयार किया गया था. पिछले चार पांच दिनों से इसका ट्रायल किया जा रहा था. शनिवार को यह शहर के ऊपर मंडरा रहा था. तभी विशालकाय ड्रोन दोपहर बाद एयरपोर्ट की दीवार से टकराकर गिर गया. बताया गया है कि ड्रोन को हाल ही में बस्तर में नक्सली अभियान के लिए लाया गया था. लगातार तीन-चार दिनों से शहर में इसका ट्रायल चल रहा था. मगर सेफ लैंडिंग न होने की वजह से शाम को ड्रोन दीवार से जा टकराया.

बताया जा रहा है कि अत्याधुनिक ड्रोन को एक सप्ताह पहले ही डीआरडीओ ने विदेश से मंगाया था. इस ड्रोन को विदेश से ही आए 3- 4 इंजीनियर ऑपरेट कर रहे थे. इस ड्रोन को बेहद खास बताया गया है. जिसे विशेषकर नक्सल अभियान के चलते डीआरडीओ ने छत्तीसगढ़ मंगवाया था. इसे नक्सली इलाकों में अभियान शुरू करने के पूर्व ट्रायल लिया जा रहा था. बताया जा रहा है कि तकनीकी कारणों से यह ड्रोन सेफ लैंडिंग नहीं कर पाया और हटकचोरा के आनंद ढाबा के करीब एयरपोर्ट के बाहर की दीवार से टकरा गया.

घटना की सूचना मिलते ही डीआरडीओ के अधिकारी स्थानीय पुलिस के साथ मौके पर पहुंच गई. ड्रोन को काफी क्षति पहुंची है. अधिकारी नष्ट हो चुके ड्रोन के कलपुर्जों को एक वाहन में लादकर एयरपोर्ट परिसर ले गये. अब तक मिली जानकारी के अनुसार ड्रोन को कितनी क्षति हुई है, इसकी जानकारी स्पष्ट नहीं है. बस्तर रेंज के आईजी सुंदर राज पी ने घटना की पुष्टि करते बताया कि पुलिस केवल सुरक्षा प्रदान करने के लिए रवाना की गई है. मौके पर डीआरडीओ के अधिकारी कर्मचारी मौजूद हैं.
माना जा रहा है  कि  इस ड्रोन के क्षतिग्रस्त होने से नैसलियों के खिलाफ चलने वाला अभियान प्रभावित हो सकता है. नक्सल इलाकों में तैनाती से पहले ही विदेशी ड्रोन का गिर जाना डीआरडीओ को भी बड़ा झटका है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज