लाइव टीवी

9 सूत्री मांग को लेकर सर्व आदिवासी समाज ने प्रशासन के खिलाफ खोला मोर्चा

Krishna Kumar Saini | News18 Chhattisgarh
Updated: September 6, 2018, 11:51 AM IST
9 सूत्री मांग को लेकर सर्व आदिवासी समाज ने प्रशासन के खिलाफ खोला मोर्चा
9 सूत्री मांग को लेकर सर्व आदिवासी समाज ने प्रशासन के खिलाफ खोला मोर्चा

सर्व आदिवासी समाज ने अपनी 9 सूत्री मांगों को लेकर प्रशासन के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है.

  • Share this:
छत्तीसगढ़ के गरियाबंद जिले में सर्व आदिवासी समाज ने अपनी 9 सूत्री मांगों को लेकर प्रशासन के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है. इसी क्रम में बीते बुधवार को सर्व आदिवासी समाज के बैनर तले समाज के लोगों ने जिला मुख्यालय में रैली निकालकर कलेक्ट्रेट का घेराव किया. इस दौरान समाज के लोगों ने कलेक्ट्रेट के बाहर प्रशासन के खिलाफ जमकर नारेबाजी की. साथ ही एक महीने में मांग पूरी न होने पर उग्र आंदोलन की चेतावनी दी है.

समाज के पदाधिकारियों ने अपनी समस्याओं का अब तक समाधान नहीं होने के लिए संबंधित अधिकारियों को जिम्मेदार ठहराया है. फिलहाल, पदाधिकारियों ने कलेक्टर की अनुपस्थिति में संयुक्त कलेक्टर को ज्ञापन सौंपकर अपनी समस्याओं से अवगत कराया है. प्रदर्शनकारी आदिवासी समाज के लोगों की मानें तो आज भी उनका समाज बुनियादी सुविधाओं की कमी से जूझ रहा है.

इस दौरान रैली में पहुंचे ग्रामीणों ने बताया कि उनके गांवों में आज भी बिजली, पानी, सड़क आदि जैसी सुविधाएं उपलब्ध नहीं हैं और ना ही स्वास्थ्य और शिक्षा जैसी सुविधाओं को उन्हें कोई लाभ मिल रहा है. नाराज ग्रामीणों ने बताया कि वे इन मांगों के लिए लंबे समय से लड़ाई लड़ रहे हैं, लेकिन उनकी मांगों पर आज तक गौर नहीं किया गया.

वहीं मामले में संयुक्त कलेक्टर जी. एस. चौरसिया ने कहा कि इनकी कुछ मांगें स्थानीय हैं और कुछ शासन स्तर की है. इसमें आदिवासियों की शासन स्तर की जो मांगें हैं, उन्हें शासन तक पहुंचाया दिया जाएगा. वहीं स्थानीय मांगों के लिए उन्होंने आगामी 8 सितंबर को कलेक्टर के साथ बैठक आयोजित करने की बात कही है.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए गरियाबंद से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 6, 2018, 11:51 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर