बिन्द्रानवागढ़ विधानसभा क्षेत्र में चुनावी सरगर्मियां तेज

आगामी विधानसभा चुनाव के मद्देनजर प्रदेश की तीनों बड़ी पार्टियों ने अपनी राजनीतिक बिसात बिछानी शुरू कर दी है. वैसे तो गरियाबंद के बिन्द्रानवागढ़ विधानसभा सीट पर कभी कांग्रेस तो कभी बीजेपी जीत दर्ज करती आई है, लेकिन पिछले दो विधानसभा चुनावों से बीजेपी बड़े अंतर से इस सीट पर अपना कब्जा जमाए हुए है.

Krishna Kumar Saini | ETV MP/Chhattisgarh
Updated: March 9, 2018, 9:58 AM IST
बिन्द्रानवागढ़ विधानसभा क्षेत्र में चुनावी सरगर्मियां तेज
बीजेपी के जिला अध्यक्ष डॉ. रामकुमार
Krishna Kumar Saini | ETV MP/Chhattisgarh
Updated: March 9, 2018, 9:58 AM IST
छत्तीसगढ़ में गरियाबंद की बिन्द्रानवागढ़ विधानसभा क्षेत्र में चुनावी सरगर्मियां तेज हो गईं हैं. यही वजह है कि इलाके के चौक चौराहों पर अब राजनीतिक चर्चाएं भी आम हो गईं हैं. इसी क्रम में आगामी विधानसभा चुनाव के मद्देनजर प्रदेश की तीनों बड़ी पार्टियों ने अपनी राजनीतिक बिसात बिछानी शुरू कर दी है. वैसे तो गरियाबंद के बिन्द्रानवागढ़ विधानसभा सीट पर कभी कांग्रेस तो कभी बीजेपी जीत दर्ज करती आई है, लेकिन पिछले दो विधानसभा चुनावों से बीजेपी बड़े अंतर से इस सीट पर अपना कब्जा जमाए हुए है.

बीजेपी ने यहां से जब जब प्रत्याशी बदलकर चुनाव लड़ा है, तब तब पार्टी को जीत हासिल हुई है. यही वजह है कि इस बार भी ये चर्चा शुरू हो गई है. पार्टी इस बार भी अपना प्रत्याशी बदलकर सीट पर कब्जा जमाने के लिए चुनाव लड़ सकती है. हालांकि कयास यह लगाया जा रहा है कि एक बार फिर बीजेपी अपने पुराने चेहरे पर ही दाव खेल सकती है.

ऐसे में बीजेपी के जिला अध्यक्ष डॉ. रामकुमार का कहना है कि बिन्द्रानवागढ़ विधानसभा सीट हमेशा से बीजेपी का गढ़ रहा है. इस सीट से बीजेपी अक्सर लोकसभा और विधानसभा दोनों ही चुनावों में अपनी जीत दर्ज करती आई है.

वहीं इस दौरान कांग्रेस विकास को अपना मुद्दा बनाकर मैदान में उतरने की तैयारी कर रही है. हालांकि पार्टी के पास इस बार इस सीट से चुनाव लड़ने के लिए कोई बड़ा चेहरा नहीं है. ऐसे में प्रदेश में तीसरी पार्टी के रूप में उभरी जोगी पार्टी भी यहां से जीत का दावा कर रही है. साथ ही चुनाव में कांग्रेस को अप्रासंगिक बताते हुए मुख्य मुकाबला छजकां और बीजेपी के बीच होने का ताल ठोक रही है.
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर