लाइव टीवी

छत्तीसगढ़ पंचायत चुनाव: यहां मां और बेटी के बीच ही चुनावी दंगल, किसको मिलेगी जीत?
Gariaband News in Hindi

Krishna Kumar Saini | News18 Chhattisgarh
Updated: January 6, 2020, 11:05 AM IST
छत्तीसगढ़ पंचायत चुनाव: यहां मां और बेटी के बीच ही चुनावी दंगल, किसको मिलेगी जीत?
अपने समर्थकों के साथ चुनाव प्रचार करतीं सुशीला.

गरियाबंद (Gariband) में मुंगझर पंचायत (Mungjhar Panchayat) एक बार फिर सुर्खियों में है. यहां मां और बेटी दूसरी बार पंचायत चुनाव (Election) में आमने-सामने हैं.

  • Share this:
गरियाबंद. छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) में त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव (Panchayat Election) की सरगर्मी तेज हो गई है. पंचायतों में विभिन्न पदों के लिए नामांकन की प्रक्रिया जारी है. इसी बीच गरियाबंद (Gariaband) जिले के एक पंचायत के चुनावी दंगल में मां और बेटी के बीच ही लड़ाई की खबर है. गरियाबंद पंचायत चुनाव (Gariaband Panchayat Election) में इस बार फिर लोगों को मां-बेटी के बीच चुनावी दंगल देखने को मिलेगा. एक ही पंचायत से दोनों प्रत्याशी के रूप में आमने सामने होंगी. हालांकि पिछली बार भी ये आमने सामने थीं और मां को जीत मिली थी.

गरियाबंद (Gariband) में मुंगझर पंचायत (Mungjhar Panchayat) एक बार फिर सुर्खियों में है. यहां मां और बेटी दूसरी बार पंचायत चुनाव में आमने सामने हैं. हालांकि पिछले दो चुनाव में मां सुशीला बाई कश्यप का पलड़ा भारी रहा है. सुशीला बाई 2010 से गांव की सरपंच हैं और पिछली बार उसने अपनी बेटी मंजू को 6 वोटों से हराकर जीत दर्ज की थी. इस बार चुनाव में मां बेटी फिर आमने सामने हैं.

Chhattisgarh
मंजू ने अपनी जीत का दावा किया है.


दोनों के अपने अपने दावे

मां सुशीला का दावा है कि वह अब घर के साथ साथ पूरे गांव की मुखिया हो गयी हैं. अपने दो कार्यकाल में विकास के बहुत से काम किये हैं. ग्रामीण इस बार फिर उन्हें सरपंच के रुप में देखना चाहते हैं. इसलिए वह चुनाव मैदान में हैं. उन्होने इस बार भी जीत का दावा किया है. वहीं बेटी मंजू भी इस बार पूरे दमखम के साथ चुनावी मैदान में उतरने का दावा कर रही हैं. चुनाव जीतने के लिए वह अपनी मां को घेरने की पूरी कोशिश कर रहीं हैं. यहां तक कि अपनी मां पर आरोप लगाने से भी पीछे नहीं हट रही हैं. मंजू के लिए इस बार सबसे बड़ी ताकत उसकी 4 अन्य बहने हैं, जिनमें से एक तो उसी गांव में रहती है और रिश्ते में उसकी देवरानी लगती हैं. इस बार ये सभी मंजू का साथ दे रही हैं, जो पिछले चुनाव में मां के साथ थीं. मंजू का दावा है कि इस बार चुनाव में वे मां को पटखनी जरूर देंगी.

ये भी पढ़ें:
छत्तीसगढ़ पंचायत चुनाव: सूरजपुर के इस गांव चुनाव की अनोखी परंपरा, फिजूलखर्ची रोकने करते हैं ये काम CAA बवाल: 'गांधी-नेहरू के सपनों को पूरा कर रही है मोदी सरकार, फिर विरोध क्यों?' 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए गरियाबंद से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 6, 2020, 11:05 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर