Home /News /chhattisgarh /

शिक्षा विभाग ने कार्रवाई करते हुए दोषी शिक्षक को किया सस्पेंड

शिक्षा विभाग ने कार्रवाई करते हुए दोषी शिक्षक को किया सस्पेंड

शिक्षा विभाग ने कार्रवाई करते हुए इस स्कूल के दोषी शिक्षक को सस्पेंड किया

शिक्षा विभाग ने कार्रवाई करते हुए इस स्कूल के दोषी शिक्षक को सस्पेंड किया

छत्तीसगढ़ के गरियाबंद जिले में बाड़ीगांव पूर्व माध्यमिक शाला के शिक्षक डमरुधर निषाद को जिला पंचायत सीईओ ने निलंबित कर दिया है.

    छत्तीसगढ़ के गरियाबंद जिले में बाड़ीगांव पूर्व माध्यमिक शाला के शिक्षक डमरुधर निषाद को जिला पंचायत सीईओ ने निलंबित कर दिया है.

    दरअसल, बाड़ीगांव पूर्व माध्यमिक शाला में ग्रामीणों द्वारा ताला लगाए जाने की खबर को मीडिया में दिखाए जाने के बाद शिक्षा विभाग ने अपनी कार्रवाई करते हुए दोषी शिक्षक के खिलाफ ये एक्शन लिया है.

    इससे पहले देवभोग बीईओ प्रदीप शर्मा ने स्कूल पहुंचकर मामले की जांच पड़ताल की और जांच में शिक्षक के दोषी पाए जाने पर कार्रवाई के लिए जिला पंचायत सीईओ को पत्र लिखा. इसके बाद जिला पंचायत ने तत्काल कार्रवाई करते हुए शिक्षक को तुरंत निलंबित कर दिया.

    फिलहाल, शिक्षक डमरुधर देवभोग बीईओ कार्यालय में अटैच रहेंगे. वहीं बाड़ीगांव स्कूल में शिक्षक की समस्या के निदान के लिए बीईओ ने तात्कालिक व्यवस्था के तहत कन्या और बालक पूर्व माध्यमिक शाला को एक साथ लगाने का निर्देश जारी किया है. इससे नए शिक्षक की पदस्थापना तक बच्चों की पढ़ाई प्रभावित नहीं होगी.

    बता दें कि शिक्षक डमरुधर की कार्यशैली से ग्रामीण कापी नाराज थे. इसी क्रम में बीते गुरुवार को ग्रामीणों ने स्कूल में ताला लगाकर शिक्षक के खिलाफ कार्रवाई की मांग की थी. यहां ये भी बताना लाजमी होगा कि बाड़ीगांव पूर्व माध्यमिक शाला में वैसे तो 3 शिक्षक पदस्थ है, लेकिन दो शिक्षकों को व्यवस्था के तहत दूसरे स्थानों पर पदस्थ कर दिया गया है.

    ऐसे में सिर्फ डमरुधर के भरोसे यहां तीन कक्षाएं संचालित हो रही थी, वह भी हमेशा नदारद ही रहते थे. जब कभी कभार स्कूल आते भी थे तो नशे की हालत में रहते थे. इस कारण बच्चे और पालक दोनों परेशान थे.

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर