लाइव टीवी

छत्तीसगढ़ः भीड़ में बच्चों के साथ 'दू-टंगड़ी' खेलने लगे कलेक्टर, दूसरे अफसरों ने भी की कॉपी

Krishna Kumar Saini | News18 Chhattisgarh
Updated: February 13, 2020, 11:07 AM IST
छत्तीसगढ़ः भीड़ में बच्चों के साथ 'दू-टंगड़ी' खेलने लगे कलेक्टर, दूसरे अफसरों ने भी की कॉपी
छत्तीसगढ़ के गरियाबंद जिले में राजिम माघी पुन्नी मेला में पारंपिरक खेल खेलते अफसर.

छत्तीसगढ़ के गरियाबंद (Gariaband) में माघी पुन्नी मेले में कलेक्टर (Collector) ने बच्चों के साथ जमकर की मस्ती. बच्चों को पारंपरिक खेल खेलता देख कलेक्टर के साथ अन्य अफसर भी उतर पड़े मैदान में.

  • Share this:





गरियबंद. आमतौर पर अफसरों को सूट-बूट और अप-टू-डेट पोजिशन में देखा जाता है, मगर जब कोई बड़ा अफसर भारी भीड़ में बच्चों के खेल खेलने लग जाए तो ताज्जुब होना लाजिमी है. ऐसा ही एक दृश्य छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) के गरियाबंद (Gariaband) जिले में राजिम (Rajim) माघी पुन्नी मेला में देखने को मिला. मेला निरीक्षण पर निकले गरियाबंद कलेक्टर (Collector) श्याम धावड़े पारंपरिक खेलों के स्टॉल पर पहुंचे. यहां उन्होंने स्टॉल का निरीक्षण किया.

गेड़ी और दू-टंगड़ी का खेल
गरियाबंद (Gariaband) कलेक्टर (Collector) श्याम धावड़े मेला निरीक्षण के दौरान बच्चों को पारंपरिक खेल खेलता देखकर खुद को रोक नहीं पाए और गेड़ी चढ़ने लगे. उनको देखकर वहां मौजूद एडिशनल एसपी सुखनंदन राठौर, थानेदार और खाद्य विभाग के जिला अधिकारी भी उनका साथ देने लगे. सभी ने गेड़ी का लुफ्त उठाया और उसके बाद दू-टंगड़ी खेल भी खेला. अधिकारियों को इस तरह खेलता देखकर मौके पर भारी भीड़ जमा हो गई और सभी अधिकारियों का खेल देखकर मनोरंजन करने लगे...तो कही ये बात
गरियाबंद कलेक्टर श्याम धावड़े ने कहा कि प्रदेश सरकार ने स्थानीय संस्कृति और परंपराओं को बढ़ावा देने के लिए जो पहल शुरू की है, उसे आगे बढ़ाया जा रहा है. उन्होंने दावा किया कि राजिम माघी पुन्नी मेले में भी स्थानीय परंपराओं और संस्कृति को बढ़ावा देने के लिए विशेष प्रयास किए जा रहे हैं. फिर चाहे वे पारंपरिक खेल हों या फिर सांस्कृतिक कार्यक्रम. मेले में ऐसे कार्यक्रमों का प्रतिदिन आयोजन हो रहा है.


 ये भी पढ़ें:


धमतरी में 10 महीने में लोग पी गए 125 करोड़ रुपये की शराब, फिर भी लक्ष्य से 83 करोड़ कम





News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए गरियाबंद से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 13, 2020, 10:25 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर