Home /News /chhattisgarh /

गरियाबंद के एक स्कूल में दो साल से नहीं हैं शिक्षक, ग्रामीणों ने चंदा कर की व्यवस्था

गरियाबंद के एक स्कूल में दो साल से नहीं हैं शिक्षक, ग्रामीणों ने चंदा कर की व्यवस्था

छत्तीसगढ़ के गरियाबंद जिले में चिपरी प्राथमिक शाला दो साल से बिना शिक्षकों के संचालित हो रहा है. ग्रामीणों की मांग के बाद भी जब जिला शिक्षा विभाग ने शिक्षकों की व्यवस्था नहीं की तो ग्रामीण खुद के चंदे से दो शिक्षकों की व्यवस्था करके स्कूल संचालित कर रहे हैं.

अधिक पढ़ें ...
    छत्तीसगढ़ के गरियाबंद जिले में चिपरी प्राथमिक शाला दो साल से बिना शिक्षकों के संचालित हो रहा है. ग्रामीणों की मांग के बाद भी जब जिला शिक्षा विभाग ने शिक्षकों की व्यवस्था नहीं की तो ग्रामीण खुद के चंदे से दो शिक्षकों की व्यवस्था करके स्कूल संचालित कर रहे हैं.

    यह व्यवस्था पिछले दो साल से चली आ रही है. ग्रामीण बच्चों के भविष्य के लिए गांव से चंदा इक्ट्टा करके शिक्षकों को वेतन दे रहे हैं.

    जिला प्रशासन की व्यवस्था से नाराज ग्रामीणों ने बुधवार को मैनपुर बीईओ कार्यालय का घेराव किया और शिक्षकों की नियुक्ति की मांग की. ग्रामीणों के मुताबिक उनका गांव बिहड़ जंगल में स्थित है. शासन ने 2014 में एसआरटीसी योजना के तहत गांव में स्कूल खोला था, मगर अगले साल ही एसआरटीसी योजना बंद हो गई.

    तब से स्कूल में न तो कोई शिक्षक है और न ही बच्चों के लिए मध्याहन भोजन की कोई व्यवस्था की गई है. ग्रामीण खुद ही चंदा इक्ट्टा करके शिक्षकों को वेतन दे रहे है.

    फिलहाल स्कूल में 41 बच्चों का दाखिला है. शासन की बेरुखी के कारण इनका भविष्य अंधकार में लटका हुआ है. हालांकि, ग्रामीणों की मांग पर बीईओ ने जल्द शिक्षक नियुक्त करने का भरोसा दिलाया है. अब देखना है कि बच्चों को कब शिक्षक मिलते हैं.

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर