मुश्किल हुआ दृष्टिहीन बच्चों के लिए दिव्यांग प्रमाणपत्र बनवाना

मुश्किल हुआ दृष्टिहीन बच्चों के लिए दिव्यांग प्रमाणपत्र बनवाना

मुश्किल हुआ दृष्टिहीन बच्चों के लिए दिव्यांग प्रमाणपत्र बनवाना

दृष्टिहीन स्कूली बच्चों के लिए दिव्यांग प्रमाणपत्र बनवाना मुश्किल हो गया है. लगातार शिविरों में पहुंचने के बाद भी बच्चों का प्रमाणपत्र नहीं बन पा रहा है.

  • Share this:

छत्तीसगढ़ में गरियाबंद जिले के दृष्टिहीन स्कूली बच्चों के लिए दिव्यांग प्रमाणपत्र बनवाना मुश्किल हो गया है. लगातार शिविरों में पहुंचने के बाद भी बच्चों का प्रमाणपत्र नहीं बन पा रहा है. बता दें कि ऐसा ही एक शिविर सर्व शिक्षा अभियान द्वारा देवभोग में आयोजित किया गया.

लिहाजा, इस शिविर में आसपास के 20 दिव्यांग बच्चे अपना प्रमाणपत्र बनवाने पहुंचे, लेकिन दिनभर इंतजार करने के बाद भी आंखों का कोई डॉक्टर शिविर में नहीं पहुंचा. इस चलते बच्चों को बिना प्रमाणपत्र के ही वापस घर लौटना पड़ा. बच्चों और उनके पालकों में इसे लेकर काफी नाराजगी है.

छात्रों का कहना है कि चार से पांच बार वे शिविर में आ चुके हैं, लेकिन उनका अभी तक दिव्यांग प्रमाणपत्र नहीं बन पाया है. छात्रों ने सवाल उठाया है कि उनका भविष्य खराब होने के बाद क्या उनका प्रमाणपत्र बनेगा.



पालकों का कहना है कि वे अब तक वे कई बार कई शिविरों में जा चुके हैं, लेकिन हर बार डॉक्टर नहीं आने का हवाला देकर उन्हें बिना प्रमाणपत्र के ही वापस भेज दिया जाता है. वहीं इस पूरे मामले में पूछे जाने पर जिम्मेदार कुछ भी बोलने को तैयार नहीं हैं.
 

ये भी पढ़ें:- गरियाबंद: सुपेडोंगर इलाके में पुलिस और नक्सलियों के बीच मुठभेड़

VIDEO: शहीद भोजसिंह टांडिल्य की जयंती पर ग्रामीणों ने किया पौधारोपण

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज