लाइव टीवी

राशन कार्ड का सिस्टम हुआ ऑनलाइन, अब कौन बनना चाहेगी 'बीवी नंबर 02'

Krishna Kumar Saini | News18 Chhattisgarh
Updated: September 15, 2019, 2:48 PM IST
राशन कार्ड का सिस्टम हुआ ऑनलाइन, अब कौन बनना चाहेगी 'बीवी नंबर 02'
अब दूसरी पत्नी केा नाम रिश्ते में अन्य (Others) के कॉलम में लिखा जाएगा.

संबंधित अधिकारियों ने ऑनलाइन राशन कार्ड नवीनीकरण सिस्टम के तहत दूसरी पत्नी के नाम को रिश्ते में अन्य (Others) के कॉलम में डालकर राशन कार्ड बनाने का रास्ता निकाला है.

  • Share this:
गरियाबंद. छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) में एक से ज्यादा पत्नी रखने वालों को राशन कार्ड नवीनीकरण (Ration Card Renewal) करवाने में दिक्कत आ रही है. दरअसल, ऑनलाइन सिस्टम (Online system) में दूसरी पत्नी का नाम दर्ज करने का कोई प्रावधान नहीं है. ऐसा ही एक मामला गरियाबंद जिले में सामने आया है.

ऑनलाइन में दूसरी पत्नी का नाम दर्ज करने का कोई कॉलम नहीं

जिले में देवभोग ब्लॉक के दीवानमुडा गांव की मालती और हीरंद्री दोनों एक-दूसरे की सौतन हैं और पिछले 15 साल से एक साथ रह रही हैं. अब तक दोनों का नाम एक ही मैनुअल राशन कार्ड (Manual ration card) पर दर्ज था, लेकिन अब सरकार की राशन कार्ड नवीनीकरण करने की प्रक्रिया ने इनकी मुश्किलें बढ़ा दी हैं. परिवार के सभी सदस्यों के नाम ऑनलाइन दर्ज होने हैं. इसमें पति, पत्नी का नाम दर्ज करने के लिए कॉलम तो बना हुआ है, लेकिन दूसरी पत्नी का नाम दर्ज करने के लिए कोई कॉलम नहीं है. इस कारण मालती और हीरंद्री का राशन कार्ड नहीं बन पा रहा है.

आदिवासी समाज में एक से ज्यादा शादी की है परंपरा

सुप्रीम कोर्ट के एडवोकेट नीतेश राणा ने बताया कि हिंदू विवाह अधिनियम के अन्तर्गत कोई भी दो शादी नहीं कर सकता है. लेकिन कुछ राज्यों में आदिवासी समाज की परंपरा में ऐसा होता आ रहा है और उन्हें यह छूट प्रदान की गई है. एंथ्रोपोलॉजिस्ट और आदिवासी अध्ययन से जुड़ी शोधकर्ता ग्लैडिस एस. मैथ्यू ने बताया कि गोंड, बीरहोर, बैगा और कुछ आदिवासी समाज में स्त्री और पुरूष दोनों ही एक से ज्यादा शादी कर सकते हैं.

राशन कार्ड-ration card
दोनों पत्नियों का एक ही मैनुअल राशन कार्ड बना हुआ है.


'अन्य' कॉलम में लिखा जाएगा दूसरी पत्नी का नाम
Loading...

प्रदेश में इस तरह का यह पहला मामला सामने आया है, जिससे खाद्य विभाग के अधिकारी भी असमंजस (Confusion) में हैं. आवेदन मिलने के तीन महीने बाद भी अधिकारी इनका राशन कार्ड जारी नहीं कर पाए हैं. हालांकि अधिकारियों ने दूसरी पत्नी के नाम को रिश्ते में अन्य (Others) के कॉलम में डालकर राशन कार्ड बनाने का रास्ता निकाला है.

अब सवाल यह उठता है कि राशन कार्ड बनवाने के लिए इन सौतनों में से कोई बीवी नंबर वन का दर्जा छोड़कर 'अन्य' में शामिल होने के लिए तैयार होगी या नहीं.

ये भी पढ़ें:- कांग्रेस ने लिया बीजेपी मुक्त बस्तर का संकल्प, BJP ने दिया ये जवाब

ये भी पढ़ें:- जशपुर कलेक्टर ने 8 घंटे में 100 किलोमीटर साइकिल चलाकर रचा इतिहास

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए गरियाबंद से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 15, 2019, 10:55 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...