लाइव टीवी

छत्तीसगढ़ में आस्था का प्रतीक राजिम माघी पुन्नी मेला शुरू, विदेशों से भी पहुंचे श्रद्धालु
Gariaband News in Hindi

Krishna Kumar Saini | News18 Chhattisgarh
Updated: February 9, 2020, 2:49 PM IST
छत्तीसगढ़ में आस्था का प्रतीक राजिम माघी पुन्नी मेला शुरू, विदेशों से भी पहुंचे श्रद्धालु
गरियाबंद के राजिम में त्रिवेणी संगम में आज सुबह ब्रह्म मुहुर्त से स्नान करना श्रद्धालुओं ने शुरू कर दिया था.

छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) में श्रद्धा और आस्था का प्रतीक राजिम (Rajim) माघी पुन्नी मेला रविवार से शुरू हो गया है.

  • Share this:
गरियाबंद. छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) में श्रद्धा और आस्था का प्रतीक राजिम (Rajim) माघी पुन्नी मेला रविवार से शुरू हो गया है. 15 दिन तक चलने वाले इस मेले की छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) में एक अलग ही पहचान है. मेले में न केवल प्रदेश के बल्कि देश और विदेश से भी श्रद्धालु शामिल होते हैं. आस्था और मान्यता के मुताबिक आज के दिन पवित्र नदियों में स्नान करने से मनोकामनाएं पूरी होती हैं. इसी श्रद्धा और विश्वास के साथ श्रद्धालु देर रात से यहां पहुंचने शुरू हो गये है.

गरियाबंद (Gariaband) के राजिम (Rajim) में त्रिवेणी संगम में आज सुबह ब्रह्म मुहुर्त से स्नान करना श्रद्धालुओं ने शुरू कर दिया था. जो दिनभर जारी रहा. त्रिवेणी संगम में स्नान करने के लिए हजारों की संख्या में श्रद्धालु राजिम पहुंचे हुये है. इसी के साथ ही प्रतिवर्ष लगने वाले राजिम माघी पुन्नी मेले का आगाज हो गया है. राजिम पहुंची श्रद्धालु डागेश्वरी, पार्वती व महेश्वर साहू का कहना है कि इस मेले का इंतजार सालभर रहता है. यहां स्नान से मनोकामना पूर्ण होती है.

मेले में पहुंचेंगे सीएम भूपेश बघेल
बता दें कि मेले का औपचारिक शुभारंभ 8 फरवरी की शाम महोत्सव स्थल से मुख्यमंत्री भूपेश बघेल अपने मंत्रीमंडल के साथ साधु संतो की मौजूदगी में करेंगे. इसको लेकर तैयारी पूरी कर ली गई है. बता दें कि पूर्व में इस मेले का आयोजन राजिम कुंभ के नाम से किया जाता था, लेकिन प्रदेश में कांग्रेस की सरकार बनने के बाद इसे फिर से पारंपरिक पुन्नी मेले का नाम दिया गया.

ये भी पढ़ें:
Board Exam: सीएम भूपेश बघेल ने बच्चों को दिए टिप्स, पैरेंट्स से कहा- उच्च अंक लाने का न डालें दबाव

छत्तीसगढ़ के सभी हुक्का बार होंगे बंद, शराब की 49 दुकानों पर भी लगेगा ताला

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए गरियाबंद से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 9, 2020, 2:49 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर