Home /News /chhattisgarh /

रायपुर नशा मुक्ति केंद्र से गरियाबंद पहुंचे ट्रेनर, नशे से दूर रहने की दी गई समझाइश

रायपुर नशा मुक्ति केंद्र से गरियाबंद पहुंचे ट्रेनर, नशे से दूर रहने की दी गई समझाइश

प्रशिक्षण शिविर का आयोजन

प्रशिक्षण शिविर का आयोजन

रायपुर के नशा मुक्ति केन्द्र से गरियाबंद पहुंचे ट्रेनरों ने बच्चों को ये समझाया कि नशे से खुद के शरीर को तो नुकसान होता ही है, साथ ही परिवार को भी इसका आर्थिक और सामाजिक नुकसान झेलना पड़ता है.

नशा नाश की जड़ है और इसकी चपेट में आने से हंसता खेलता परिवार तबाह हो जाता है. इसी बात का एहसास कराने के लिए छत्तीसगढ़ में गरियाबंद जिला मुख्यालय के कन्या शाला में एक दिवसीय प्रशिक्षण शिविर का आयोजन किया गया. इस दौरान यहां दूसरे स्कूलों के बच्चों को भी बुलाकर एक साथ प्रशिक्षण दिया गया.

वहीं रायपुर के नशा मुक्ति केन्द्र से गरियाबंद पहुंचे ट्रेनरों ने बच्चों को ये समझाया कि नशे से खुद के शरीर को तो नुकसान होता ही है साथ ही परिवार को भी इसका आर्थिक और सामाजिक नुकसान झेलना पड़ता है. ट्रेनरों ने अपने अनुभवों को साझा करते हुए बच्चों को नशे से दूर रहने की समझाईश दी है. साथ ही अपने परिवार और आसपास के लोगों को भी नशा छोड़ने के लिए प्रेरित करने की सलाह दी है.

वहीं छात्रों ने कहा कि नशामुक्ति शिक्षण शिविर में उन्हें बहुत कुछ जानने को मिला, अब वे अपने घरों में जाकर सबको इसके लिए जागरूक कर रहे हैं.

प्रशिक्षकों की मानें तो नशे की लत सबसे ज्यादा युवा पीढ़ी में होती है, इसलिए उन्हें नशे से दूर रहने के लिए इस शिविर का आयोजन किया गया था. ताकि वे खुद भी समझे और अपने घरवालों, दोस्तों, पड़ोसियों आदि को भी नशे से दूर रहने के लिए जागरूक कर सकें.

ये भी पढ़ें:- जशपुर में हो रही थी अफीम की खेती, पुलिस ने आरोपी को किया गिरफ्तार

ये भी पढ़ें:- जशपुर: महिलाओं ने सुरजुला ग्राम पंचायत को बनाया स्वच्छ और स्वस्थ

Tags: Chhattisgarh news, Drugs Problem, Gariyaband

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर