रविशंकर यूनिवर्सिटी ने रोका गरियाबंद के 100 से अधिक छात्रों का रिजल्ट, ये है वजह

परीक्षा में शामिल होने या नही होने के विवाद को लेकर यूनिवर्सिटी प्रबंधन ने इन छात्रों का रिजल्ट रोक दिया है.

Krishna Kumar Saini | News18 Chhattisgarh
Updated: August 1, 2019, 10:51 AM IST
रविशंकर यूनिवर्सिटी ने रोका गरियाबंद के 100 से अधिक छात्रों का रिजल्ट, ये है वजह
छत्तीसगढ़ के गरियाबंद जिले के राजिम में 100 अधिक विद्यार्थियों का परीक्षा परिणाम पंडित रविशंकर शुक्ल यूनिवर्सिटी, रायपुर द्वारा रोक दिया गया है.
Krishna Kumar Saini
Krishna Kumar Saini | News18 Chhattisgarh
Updated: August 1, 2019, 10:51 AM IST
छत्तीसगढ़ के गरियाबंद जिले के राजिम में 100 अधिक विद्यार्थियों का परीक्षा परिणाम पंडित रविशंकर शुक्ल यूनिवर्सिटी, रायपुर द्वारा रोक दिया गया है. यूनिवर्सिटी प्रबंधन का दावा है कि जिन परीक्षार्थियों का रिजल्ट रोका गया है, वे एक या दो विषय की परीक्षाओं में अनुपस्थित थे. इसके चलते उनके रिजल्ट रोके गए हैं. जबकि विद्यार्थियों का दावा है कि वे सभी विषयों की परीक्षाओं में उपस्थित थे.

परीक्षा में शामिल होने या नही होने के विवाद को लेकर यूनिवर्सिटी प्रबंधन ने इन छात्रों का रिजल्ट रोक दिया है. हालांकि छात्रों के दावे को देवभोग कॉलेज प्रबंधन भी पुख्ता बता रहा है. कॉलेज के प्रचार्या दिकेश्वर सिंह मरकाम का कहना है कि कॉलेज प्रबंधन के पास छात्रों के उपस्थित होने के सारे दस्तावेज मौजूद हैं. साथ ही छात्रों के परीक्षा में उपस्थित होने की तमाम जानकारी विश्वविद्यालय प्रबंधन को भेज दिये गए हैं.

नई क्लास में एडमिशन में दिक्कत
प्राचार्य टिकेश्वर सिंह मरकाम का कहना है कि रिजल्ट रुकने से न छात्र अगली क्लास में एडमिशन ले पा रहे हैं और ना ही कहीं नौकरी के लिए आवेदन कर पा रहे हैं. बता दें कि नियमानुसार यदि परीक्षार्थी किसी विषय में अनुपस्थित भी रहते हैं तो भी उनका परिणाम यूनिवर्सिटी द्वारा ये तर्क देकर नहीं रोका जा सकता. बल्कि रिजल्ट में उक्त विषय के आगे अनुपस्थित लिखकर उसे घोषित किया जा सकता है. ऐसे में विषय में अनुपस्थित रहने का हवाला देकर परिणाम रोकने के तर्क पर सवाल खड़े हो रहे हैं.

ये भी पढ़ें:- हाईकोर्ट के दखल के बाद गुस्सैल ‘गणेश’ को बेड़ियों से मिली आज़ादी

ये भी पढ़ें:- जंजीर तोड़ फरार हुआ 'हत्यारा' हाथी, 12 लोगों की ले चुका है जान
First published: August 1, 2019, 10:48 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...