Home /News /chhattisgarh /

युकां ने फर्जी एएनएम भर्ती मामले में जांच सार्वजनिक करने की मांग की

युकां ने फर्जी एएनएम भर्ती मामले में जांच सार्वजनिक करने की मांग की

5 दिन से भूख हड़ताल पर युकां और एनएसयूआई कार्यकर्ता

5 दिन से भूख हड़ताल पर युकां और एनएसयूआई कार्यकर्ता

गरियाबंद जिले के युवा कांग्रेस और एनएसयूआई कार्यकर्ता जिला स्वास्थ्य केंद्र में हुए फर्जी एएनएम भर्ती मामले के विरोध में पिछले 5 दिनों से भूख हड़ताल पर बैठे हैं. उनका कहना है कि मांग पूरी नहीं होने तक वे अंत तक भूख हड़ताल पर डटे रहेंगे.

अधिक पढ़ें ...
छत्तीसगढ़ में गरियाबंद जिले के युवा कांग्रेस और एनएसयूआई कार्यकर्ता जिला स्वास्थ्य केंद्र में हुए फर्जी एएनएम भर्ती मामले के विरोध में पिछले 5 दिनों से भूख हड़ताल पर बैठे हैं. उनका कहना है कि मांग पूरी नहीं होने तक वे अंत तक भूख हड़ताल पर डटे रहेंगे.

दरअसल, कार्यकर्ताओं का कहना है कि जिला स्वास्थ्य विभाग में भ्रष्टाचारी नीति अपनाते हुए सीएचएमओ ने एएनएम की फर्जी भर्ती कर बड़े पैमाने पर फर्जीवाड़ा किया है. उनका कहना है कि सीएचएमओ ने नियम के विरुद्ध जाकर 14 पदों की जगह 41 पदों पर भर्ती कर दी है.

इतना ही नहीं जिला प्रशासन से लेकर स्वास्थ्य मंत्री तक सभी को संबंधित मामले की पूरी जानकारी है. बावजूद इसके अब तक कोई कार्रवाई नहीं की गई है और ना ही करने को तैयार हैं और तो और सभी ने मामले में चुप्पी साध रखी है.

ऐसे में कार्यकर्ताओं की मांग है कि इस मामले में अब तक की हुई जांच सार्वजनिक की जाए और दोषी पाए जाने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाए.
मामले में बिन्द्रानवागढ़ विधानसभा के युकां अध्यक्ष अमित मिरी का कहना है कि वो भ्रष्टाचार के मुद्दे को लेकर पिछले पांच दिनों से भूख हड़ताल पर हैं. उन्होंने कहा कि फर्जी एएनएम भर्ती मामले में अभी तक हुई जांच की कोई भी रिपोर्ट सामने नहीं आई है. साथ ही अब तक शासन की ओर से कोई भी अधिकारी उनसे मिलने नहीं आया है. इससे यह पता चलता है कि भ्रष्टाचार की चरम सीमा कहां तक पहुंच गई है. युकां अध्यक्ष का कहना है कि इसमें ऊपर से लेकर नीचे तक के सभी अधिकारी, कर्मचारी, मंत्री और नेता इस भ्रष्टाचार में लिप्त हैं.

Tags: Youth congress

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर