दृश्‍यम स्टाइल में क्राइम: बेटी को परेशान कर रहे युवक की हत्या कर शव को दफनाया, 1 माह बाद मिला कंकाल

सांकेतिक फोटो.

सांकेतिक फोटो.

छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) के जांजगीर-चांपा (Janjgir-Champa) जिले में हिंदी फिल्म दृश्‍यम की स्टाइल में हत्या की वारदात (Crime) को अंजाम दिया गया है.

  • Share this:

जांजगीर-चांपा. छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) के जांजगीर-चांपा (Janjgir-Champa) जिले में हिंदी फिल्म दृश्‍यम की स्टाइल में हत्या की वारदात (Crime) को अंजाम दिया गया है. जिले के अड़भार चौकी क्षेत्र के देवांगन में रहने वाला युवक ठाकेंद्र देवांगन 30 अप्रैल कि रात घर से लापता हो गया था, जिसकी गुमसुदगी की रिपोर्ट ठाकेंद्र के परिजनों ने अड़भार चौकी में दर्ज कराई थी. पुलिस ने चौकी में अपराध दर्ज कर लिया था और मामले कि विवेचना कर रही थी, लेकिन पुलिस के हांथ कुछ भी नहीं लग रहा था, मामले की विवेचना में विलम्ब होता देख परिजनों का असंतोष बढ़ते जा रहा था, और परिजनों को किसी अनहोनी का डर भी सता रहा था.

लेटलतीफी होता देख और परिजनों के बढ़ते आक्रोश को देखते हुए जांजगीर एसपी पारुल माथुर ने एडिसनल एसपी को टीम का मुखिया बनाकर अलग से टीम गठित किया,और  जाँच का जिम्मा टीम को दिया था. तब पुलिस को कामयाबी मिली और घटना दिनांक के एक माह बाद मामले का खुलासा हुआ कि  मृतक ठाकेंद्र देवांगन अपने ही पड़ोसी अजय देवांगन के 13 वर्षीय पुत्री को उसके मोबाइल नम्बर पर मैसेज भेज भेज कर परेशान करता है.

मैसेज कर घर बुलाया

पुलिस के मुताबिक इसी बात से नाराज अजय देवांगन ने अपने पुत्री के मोबाइल से ठाकेंद्र को रात 12 बजे मैसेज कर बुलवाया और उसे समझाने लगा, लेकिन ठाकेंद्र और अजय देवांगन के बीच विवाद बढ़ गया. अजय ने अपने गमछे से ठाकेंद्र का गला दबाकर उसकी हत्या कर दी. इसके बाद उसके दोनों हाथ पैर और मुंह को बांधकर अपने गाड़ी कि डिक्की में डाल दिया था. सबूत मिटाने के लिए अजय रातों रात ठाकेंद्र के शव को लेकर अड़भार से 25 किलोमीटर दूर पावर प्लांट के राखड़ डैम के पास चला गया, जहां पर अजय का जेसीबी मशीन राखड़ डंप करने के काम पर लगा हुआ था, उसने अपने जेसीबी मशीन के ड्राइवर को पीने के पानी लाने के बहाने भेज दिया, और ठाकेंद्र के शव को अपने गाड़ी कि डिक्की से निकालकर गड्ढे में डाल दिया.
गड्ढे में डलवाया राखड़

जेसीबी का ड्राइवर पानी लेकर जब वापस आया तो उसे गड्ढे में राखड़ डालने के लिए बोला. अंधेरा होने के वजह से ड्राइवर को गड्ढे का शव नजर नहीं आया और ड्राइवर ने ठाकेंद्र के शव के ऊपर राखड़ डाल दिया था, और वापस अपने घर अड़भार आ गया. बताते हैं कि पुलिस ने ठाकेन्द्र के मोबाइल के मैसेज के आधार पर गंभीरता से पूछताछ की, जिसके बाद मामले का खुलासा हो सका.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज