जांजगीर-चांपा जिला अस्‍पताल में नदारद रहते हैं डॉक्‍टर
Janjgir News in Hindi

जांजगीर-चांपा जिला अस्‍पताल में नदारद रहते हैं डॉक्‍टर
इसी तरह खाली पड़े रहते हैं डॉक्‍टरों के चेंबर.

छत्‍तीसगढ़ में जांजगीर-चांपा के जिला अस्‍पताल में इलाज कराने पहुंचने वाले मरीजों और उनके परि‍जनों का आरोप है कि यहां डॉक्टर ड्यूटी टाइम में भी नदारद रहते हैं. इनमें से कई तो अपने-अपने निजी क्लि‍निकों में ज्यादा समय व्यतीत करते हैं.

  • Share this:
छत्‍तीसगढ़ में जांजगीर-चांपा के जिला अस्‍पताल में इलाज कराने पहुंचने वाले मरीजों को भारी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है. स्‍थानीय और आसपास के ग्रामीण क्षेत्रों से यहां पहुंचने वाले मरीजों और उनके परि‍जनों का आरोप है कि यहां डॉक्टर ड्यूटी टाइम में भी नदारद रहते हैं. इनमें से कई तो अपने-अपने निजी क्लि‍निकों में ज्यादा समय व्यतीत करते हैं.

मरीजों और उनके परि‍जनों की इस परेशानी का पता चलने पर जब न्‍यूज़18/ईटीवी की टीम शनिवार सुबह जिला अस्‍पताल पहुंची, तो वहां का नजारा बिलकुल साफ था. लोगों के कथनानुसार डॉक्टर अपने चेम्बर में मौजूद ही नहीं थे. टीम ने बाकायदा 4 घंटे तक इंतजार किया, उसके बाद जाकर एक डॉक्टर पहुंचे.

जिला मुख्‍यालय के आसपास के क्षेत्रों के अस्‍पतालों में डॉक्टरों की कमी पहले से ही है. लगातार मांग के बावजूद डॉक्‍टरों की नियुक्ति नहीं हो पा रही है. नतीजतन जिला अस्‍पताल केवल प्राथमिक अस्‍पताल जैसा बन कर ही रह गया है. उस पर भी डॉक्टरों के ड्यूटी से नदारद रहने से परेशान मरीजों के हाल बेहाल हो रहे हैं.



घंटों इंतजार के बाद भी जब मरीजों को भगवान का रूप कहे जाने वाले डॉक्‍टर के दर्शन नहीं हो पाते तो थक-हार कर मजबूरी में उन्‍हें प्राइवेट नर्सिंग होम का रुख करना पड़ता है और यही तो जिला चिकित्सालय के डॉक्टर भी चाहते हैं कि उनका क्लि‍निक मरीजों से भरा रहे और सरकार से वेतन भी मिलता रहे.
इस मामले को लेकर जब जिला अस्‍पताल हॉस्पिटल के सिविल सर्जन डॉ. सीपी जैन से बात की गई तो उन्‍होंने भी स्‍वीकारा कि जिला चिकित्‍सालय में डॉक्‍टर समय पर नहीं आते और ड्यूटी से नदारद रहते हैं. उन्‍होंने कई बार चिकित्‍सकों को नामजद नोटिस जारी कर समय पर आने को कहा है. नोटिस की कॉपी उच्‍चाधिकारियों को भी भेजी गई है, लेकिन अब भी सुधार नहीं हुआ है. आज भी चिकित्‍सकों की अनुपस्थिति में उन्‍होंने खुद मरीजों का इलाज किया.

वहीं जिले के मुख्‍य चिकित्सा अधिकारी डॉ. वी. जयप्रकाश ने जिला अस्‍पताल और ग्रामीण क्षेत्रों की स्‍वास्‍थ्‍य सेवाओं में शीघ्र ही सुधार लाने की बात कही.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज