• Home
  • »
  • News
  • »
  • chhattisgarh
  • »
  • जांजगीर में मेडिकल सर्विस के वेयर हाउस में ड्रग विभाग का छापा

जांजगीर में मेडिकल सर्विस के वेयर हाउस में ड्रग विभाग का छापा

सांकेतिक फोटो.

सांकेतिक फोटो.

जांजगीर-चांपा जिले के केरा रोड स्थित छत्तीसगढ़ मेडिकल सर्विस कर्पोरेशन के वेयर हाउस मे ड्रग विभाग की टीम ने दबिश दी है.

  • Share this:
जांजगीर-चांपा जिले के केरा रोड स्थित छत्तीसगढ़ मेडिकल सर्विस कर्पोरेशन के वेयर हाउस मे ड्रग विभाग की टीम ने दबिश दी है. इस दौरान वेयर हाउस के गोदाम से हेल्थ बायोटेक लिमिटेड हिमाचल प्रदेश बड्डी द्वारा सप्लाई किया हुआ प्रतिबंधित पेन किलर डाइक्लोफेनिक सोडियम इंजेक्शन (कोड नंबर डी 170) के 57 हजार 740 एमपुल मिले हैं.

जिसे ड्रग विभाग की टीम ने को फ्रिज करते हुए कम्पनी को ब्लैक लिस्टेड कर दिया है. इस इंजेक्शन की सप्लाई को कोर्ट द्वारा पहले ही प्रतिबंधित किया गया था, जिसकी वजह से इसकी सप्लाई पर रोक लगी हुई है. क्योंकि इस इंजेशन के लिक्विड का कलर वक़्त के साथ साथ लगातार बदल रहा है. इसके उपयोग से बीमार मरीजों को साईड ईफेक्ट भी हो रहा था.

बता दें कि डाइक्लोफेनिक सोडियम इंजेक्शन मूलतः दर्द की दवा है और यह दवा जिले में हेल्थ बायोटेक बड्डी हिमाचल प्रदेश की कंपनी द्वारा सीजीएमएससी के माध्यम से जिले के सभी शासकीय अस्पतालों में सप्लाई की जा रही थी. ड्रग विभाग की टीम को सूचना मिली थी कि डाइक्लोफेनिक सोडियम इंजेक्शन की (कोड नंबर डी 170) दवा अमानक है और इसकी सप्लाई पर रोक लगा है.

इसके बाद भी जिले के सभी शासकीय अस्पतालों में यह दवा सप्लाई की जा रही थी. सूचना पर ड्रग विभाग की टीम जांजगीर के केरा रोड स्थिति छत्तीसगढ़ मेडिकल सर्विसेस कार्पोरेशन (सीजीएमएससी) ड्रग वेयर हाउस पहुंची और गोदाम में मौजूद 57 हजार 740 इंजेक्शन को फ्रिज कर दिया है. अब इस बैच की दवा का इस्तेताल जिले के शासकीय अस्पतालों में नहीं होगी.

वेयर हाउस के मैनेजर मुकुंन चन्द्रा ने बताया कि इस बेच की 60 हजार इंजेक्शन सप्लाई यहां हुई थी, जिसमे से 2260 की सप्लाई दूसरी जगहों पर की जा चुकी है. बाकी का स्टाक वेयर हाउस मे आज भी मौजूद है. फ़िलहाल सीजीएमएससी ने इस अमानक दवा को बनाने वाली हिमाचल प्रदेश की कंपनी हेल्थ बायोटेक बड्डी को ब्लेक लिस्टेड कर दिया है, लेकिन सवाल यह है की 2260 इंजेक्शन की जिले के शासकीय अस्पतालों में सप्लाई हो चुका है, अगर इसके इस्तमाल से मरीज को साइड इफेक्ट होता है तो उसका जवाबदार कौन होगा.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज