Assembly Banner 2021

जांजगीर में प्रशासनिक प्रताड़ना से ग्रामीण ने की खुदकुशी, परिजन ने की कार्रवाई की मांग

जांजगीर जिले के बरेकेल गांव में प्रासनिक प्रताड़ना से तंग आ कर एक ग्रामीण ने महानदी पुल पर फाँसी लगा कर ख़ुदकुशी कर ली, ख़ुदकुशी की जानकारी मिलने के बाद ग्रामीणों ने तहसीलदार और गांव के सरपंच की गिरफ़्तारी की मांग को लेकर पुल के ऊपर चक्काजाम कर दिया और प्रशासन के खिलाफ जम कर नारेबाजी करते रहे.

  • Share this:
जांजगीर जिले के बरेकेल गांव में प्रासनिक प्रताड़ना से तंग आ कर एक ग्रामीण ने महानदी पुल पर फाँसी लगा कर ख़ुदकुशी कर ली, ख़ुदकुशी की जानकारी मिलने के बाद ग्रामीणों ने तहसीलदार और गांव के सरपंच की गिरफ़्तारी की मांग को लेकर पुल के ऊपर चक्काजाम कर दिया और प्रशासन के खिलाफ जम कर नारेबाजी करते रहे.

ग्रामीणों के आक्रोश के सामने पुलिस बेबस मूक दर्शक बनी खड़ी रही, कुछ घंटे के हंगामे के बाद प्रशासनिक अधिकारी मौके पर पहुंचे और लगभग पांच घण्टे की समझाईश के बाद ग्रामीणों ने चक्काजाम ख़त्म किया तब कही जा कर शव को उतारा गया.

ग्रामीणों के मुताबिक बरेकेल निवासी मोहन कहरा गांव में सरकारी जमीन पर मकान बना कर सालों से रह रहा था जिसे सरपंच की शिकायत के बाद तहसीलदार ने बेजा कब्ज़ा हटाने के नाम पर तोड़ दिया. मकान के टूट जाने से मोहन कहरा बेघर हो गया था और इसी सदमे में आ कर मोहन कहरा ने गांव के बाहर महानदी पर बने पुल पर फाँसी लगा कर खुदकुशी कर ली.



मोहन की आत्महत्या से परिजन गुस्से में आ गये और पुलिस को महानदी पुल से मोहन की लाश को उतारने नही दिया पुलिस की काफी समझाइश के बाद परिजन माने और लाश को पोस्टमॉर्टम के लिए भेजने को तैयार हुए
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज