होम /न्यूज /छत्तीसगढ़ /नाबालिग लड़की से I Love U बुलवाने की जिद में मोबाइल टावर पर चढ़ा सिरफिरा आशिक, गिरफ्तार

नाबालिग लड़की से I Love U बुलवाने की जिद में मोबाइल टावर पर चढ़ा सिरफिरा आशिक, गिरफ्तार

Janjgir news: मोबाइल टावर की सबसे ऊंची चोटी पर चढ़ा

Janjgir news: मोबाइल टावर की सबसे ऊंची चोटी पर चढ़ा

Janjgir-Champa News: ब्लॉकबस्टर फिल्म शोले में धर्मेंद्र का पानी की टंकी पर चढ़कर हेमा मालिनी को शादी के लिए तैयार करने ...अधिक पढ़ें

हाइलाइट्स

फिल्म शोले के धर्मेंद्र की स्टाइल में ऊपर से कूदकर जान दे देने की जिद पर अड़ा
नाबालिग लड़की के परिजनों की शिकायत पर सिरफिरे आशिक के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज

जांजगीर-चांपा. मोबाइल टावर पर चढ़कर अपनी कथित नाबालिग प्रेमिका को आई लव यू बोलने की जिद करना एक युवक को महंगा पड़ गया. इस सिरफिरे आशिक को जांजगीर-चांपा (Janjgir Champa) जिले की पामगढ़ पुलिस ने नाबालिग लड़की के परिजनों की शिकायत पर पोक्सो (POCSO) एक्ट में गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है. इस युवक को नाबालिग लड़की से एकतरफा प्रेम हो गया था. वह लड़की से भी हां करवाने की कोशिश कर रहा था, लेकिन नाकाम रहा. इस पर उसने मोबाइल टॉवर पर चढ़कर दबाव डालने की कोशिश की.

जांजगीर चांपा जिले के शिवरीनारायण थाना क्षेत्र के ग्राम कुरयारी में रहने वाला आकाश कुमार सायतोड़े पिछले कुछ वर्षों से पामगढ़ के वार्ड नंबर-3 में अपने मामा निखिल के घर पर रहता था. दो दिन पहले 24 नवंबर को दोपहर 1 बजे के लगभग आकाश पामगढ़ के वार्ड नंबर-3 स्थित एक मोबाइल कम्पनी के मोबाइल टावर की सबसे ऊंची चोटी पर चढ़ गया.

कूदकर जान देने की करने लगा जिद
मोबाइल टावर पर चढ़ा यह सिरफिरा मजनूं एकतरफा प्रेम में अपनी नाबालिग प्रेमिका से आई लव यू बुलवाने की जिद कर रह था. ऐसा न करने पर वह फिल्म शोले के धर्मेंद्र की स्टाइल में ऊपर से कूदकर जान दे देने की जिद पर अड़ा हुआ था. मोबाइल टावर पर युवक के चढ़े होने की जानकारी मिलते ही मौके पर लोगों की भीड़ एकत्र हो गई.

पांच-छह घंटे मोबाइल टावर पर चढ़ा रहा
इस पर वहां मौजूद लोगों की सूचना पर तत्काल आकाश का मामा निखिल, पामगढ़ थाने कि पुलिस टीम और जिला प्रशासन की टीम पहुंच गई. इन्होंने आकाश को नीचे उतारने के लिए काफी समझाइश की, लेकिन वह अपनी नाबालिग प्रेमिका को मौके पर बुलवाकर उसके मुंह से आई लव यू सुनने की जिद करता रहा. जांजगीर चांपा के उप पुलिस अधीक्षक निकोलस खलखो के मुताबिक लड़का पांच-छह घण्टे से मोबाइल टावर कि ऊंची चोटी पर ही अड़ा रहा.

पुलिस-परिजनों ने समझाइश से उतारा
पुलिस और परिजनों ने बड़ी मशक्कत से उसे समझाइश कर मोबाइल टावर से नीचे उतारा. उसके बाद उसे पामगढ़ अस्पताल में भर्ती कराया गया. अस्पताल में ही पामगढ़ कि पुलिस टीम, तहसीलदार और नाबालिग लड़की के परिजनों को बुलवाकर बातचीत की. उसके बाद नाबालिग लड़की के परिजनों की शिकायत पर पामगढ़ थाने में आकाश के खिलाफ आईपीसी की धारा 354 एवं पोक्सो एक्ट के तहत अपराध दर्ज किया गया. बाद में उसे गिरफ्त्तार कर न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया.

टॉप स्टोरीज
अधिक पढ़ें