COVID-19 के 100% इलाज की दवा उपलब्ध कराने का दावा करने वाला सरपंच गिरफ्तार

कोरोना वायरस की दवा देने का दावा करने वाले के खिलाफ कार्रवाई की गई.

छत्तीसगढ़ के जांजगीर-चांपा जिले के पामगढ़ तहसील क्षेत्र के ग्राम भैंसो के सरपंच आकाश सिंह को पामगढ़ पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है.

  • Share this:
जांजगीर. छत्तीसगढ़ के जांजगीर-चांपा जिले के पामगढ़ तहसील क्षेत्र के ग्राम भैंसो के सरपंच आकाश सिंह को पामगढ़ पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है. पामगढ़ तहसील क्षेत्र के ग्राम भैंसो का सरपंच आकाश सिंह सोशल मीडिया पर कोरोना वायरस के संक्रमण के इलाज का 100 प्रतिशत शुद्ध दवाई उपलब्ध होने का दावा करता पोस्ट सोशल मीडिया में शेयर किया था. पोस्ट पर अपना फोटो और पता भी सरपंच ने लिखा था. इसके बाद पुलिस ने उसे बुधवार को गिरफ्तार कर लिया.

जांजगीर के पामगढ़ पुलिस थाना प्रभारी राजकुमार लहरे द्वारा मामले की विवेचना की गई. जांच में पोस्ट सरपंच द्वारा ही किया जाना पाने पर उसे गिरफ्तार किया गया. थाना प्रभारी राज कुमार लहरे ने बताया कि कोरोना वायरस की 100% दवा उपलब्ध होने का सोशल मीडिया पर प्रचार प्रसार होने की शिकायत लगातार लोगों से मिल रही थी. मामले की गंभीरता को व कोरोना वायरस से लेकर के अफवाह को ध्यान में रखते हुए मामले की विवेचना की.

..तो गिरफ्तार किए
थाना प्रभारी राजकुमार ने बताया कि विवेचना के दौरान इस बात का पुष्टि हुई कि पामगढ़ थाना क्षेत्र के ग्राम पंचायत भैंसों के नवनिर्वाचित सरपंच आकाश सिंह द्वारा ही कोरोना वायरस की 100% दवा उपलब्ध होने का प्रचार-प्रसार अपना फोटो लगा हुआ पोस्टर  के साथ किया जा रहा है तो थाना पामगढ़ में सरपंच आकाश सिंह के खिलाफ अपराध क्रमांक 94/20 के तहत अपराध दर्ज किया गया था. इसके बाद उसकी तलाश की जा रही थी. मुखबिर कि सूचना पर उन्हें ग्राम पंचायत भैसों के उसके घर से पुलिस टीम ने गिरफ्तार किया है और धारा 188 भादवी 3 महामारी अधिनियम के तहत अपराध दर्ज कर न्यायालय के समक्ष प्रस्तुत किया गया है.

ये भी पढ़ें:
लॉकडाउन में 750 KM पैदल चलकर लखनऊ से मुंगेली पहुंचे 2 मजदूर, स्कूल में किए गए आइसोलेट

सुकमा में लॉकडाउन में घरों में थे लोग, तूफान आया और उजड़ गया 49 परिवारों का आशियाना 

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.