समिति के सेल्समैन ने ही सेवा सहकारी समिति अध्यक्ष के घर पर करवाई थी फायरिंग
Janjgir News in Hindi

समिति के सेल्समैन ने ही सेवा सहकारी समिति अध्यक्ष के घर पर करवाई थी फायरिंग
सेवा सहकारी समिति अध्यक्ष के घर पर फायरिंग मामले में 5 आरोपी गिरफ्तार

जांजगीर चांपा जिले में बिर्रा थाना क्षेत्र के ग्राम घिवरा में 30 जून को सेवा सहकारी समिति के अध्यक्ष के घर पर हुई फायरिंग की गुत्थी पुलिस ने सुलझा ली है.

  • Share this:
छत्तीसगढ़ के जांजगीर चांपा जिले में बिर्रा थाना क्षेत्र के ग्राम घिवरा में 30 जून को सेवा सहकारी समिति के अध्यक्ष के घर पर हुई फायरिंग की गुत्थी पुलिस ने सुलझा ली है. बता दें कि सहकारी समिति के सेल्समैन ने ही समिति के अध्यक्ष की हत्या करवाने की नियत से साजिश रची थी. ऐसे में हत्या करवाने की साजिश रचने वाला सेल्समैन समेत 5 आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है. वहीं एक फरार आरोपी की तलाश जारी है. समिति अध्यक्ष की हत्या करवाने के लिए आरोपी सेल्समैन ने 1 लाख 50 हजार रुपए की सुपारी दी थी.

पूरा मामला 

बीते 30 जून की रात ग्राम घिवरा में सेवा सहकारी समिति के अध्यक्ष संतोष कश्यप के घर पर फायरिंग की गई थी. इसकी गुत्थी जांजगीर पुलिस और क्राइम ब्रांच की टीम ने सुलझा लिया है. दरअसल, सेवा सहकारी समिति घिवरा के सेल्समैन कुसत चंद्रा और ग्राम घिवरा के ही रहने वाले मनोज कश्यप का समिति के अध्यक्ष संतोष कश्यप के साथ किसी बात को लेकर आपसी विवाद था.



दरअसल, समिति के अध्यक्ष संतोष ने सेल्समैन कुसत चंद्रा को समिति प्रबंधक के पद से डिमोशन कराकर सेल्समैन का पद दे दिया था. वहीं घिवरा के रहने वाले मनोज कश्यप ने अपने बेटे को सेवा सहकारी समिति में डाटा एंट्री ऑपरेटर के पद पर भर्ती करवाना चाह रहा था, लेकिन समिति अध्यक्ष संतोष कश्यप ने मनोज कश्यप के बेटे को डाटा एंट्री ऑपरेटर के पद में न रखकर किसी दूसरे को रख लिया था.
लिहाजा, इसी बात से दोनों नाराज थे और दोनों ने मिलकर समिति अध्यक्ष संतोष कश्यप की हत्या करवाने की साजिश रच डाली. इसके लिए उन्होंने शिवरीनारायण के रहने वाले छेदी नामक बदमाश को सुपारी दी थी. इसके बाद हत्या करने के लिए शूटर की तलाश करने को कहा. इसके लिए 1 लाख 50 हजार रुपए में हत्या करने का सौदा तय हो गया. इसके बाद आरोपी 30 जून की रात ग्राम घिवरा पहुंचकर अध्यक्ष संतोष कश्यप के घर की खिड़की से संतोष पर गोली चलाई थी, लेकिन बदमाशों का निशाना चूक गया और गोली घर के दीवार में जा लगी.

अगले दिन सुबह समिति अध्यक्ष संतोष कश्यप ने बिर्रा थाने पहुंचकर मामले की शिकायत दर्ज कराई थी. बहरहाल, पुलिस और क्राइम ब्रांच की टीम ने मिलकर इस गुत्थी को सुलझा लिया है. हत्या की साजिश रचने वाले सेल्समैन कुसत चंद्रा ग्राम घिवरा के रहने वाले मनोज कश्यप, शिवरीनारायण के रहने वाले बदमाश छेदी और सुपारी लेने वाले संजय यादव और बिलासपुर जिले के आदर्श बस में पार्ट टाइम ड्राइवर का काम करने वाले नागेन्द्र को गिरफ्तार कर लिया है. वहीं मध्य प्रदेश के शहडोल जिले के रहने वाले आरोपी सोनू की तलाश जारी है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज