• Home
  • »
  • News
  • »
  • chhattisgarh
  • »
  • ये है स्कूल का हाल: पीने को पानी, बैठने को जगह नहीं

ये है स्कूल का हाल: पीने को पानी, बैठने को जगह नहीं

सांकेतिक फोटो.

सांकेतिक फोटो.

जांजगीर-चांपा जिले के बलौदा विकाश खण्ड के ग्राम पराउडेरा में संचालित शासकीय नवीन प्राथमिक शाला में विद्यार्थियों को भारी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है.

  • Share this:
जांजगीर-चांपा जिले के बलौदा विकाश खण्ड के ग्राम पराउडेरा में संचालित शासकीय नवीन प्राथमिक शाला में विद्यार्थियों को भारी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है. इस स्कूल में बच्चों को बैठ कर पढ़ने के लिए भवन की कमी है. इसके अलावा पीने के पानी के लिए भी बच्चों को स्कूल से बाहर जाना पड़ता है.

पराउडेरा के शासकीय नवीन प्राथमिक शाला में भवन की कमी के कारण लाखों रुपए की लागत से अतिरिक्त कक्ष का निर्माण कराए गया था. लेकिन निर्माण की क्वालिटी इतनी घटिया थी कि निर्माण के बाद से ही भवन का फर्श उखड़ने लगा था और दीवारों से सीमेंट रेत की तरह झड़ रही थी. इसके कारण यहां के शिक्षक बच्चों को नव निर्माण भवन में पढ़ाने से डरते हैं.

मजबूरन बच्चों को मैदान में बैठकर पढ़ाई करनी पड़ रही है.
भवन की हालत इतनी जर्जर हो गई है कि दीवारों को छूते ही सीमेंट रेत की तरह झड़ जाती है. इसको लेकर शिक्षकों ने कई बार अधिकारियों सहित सरपंच को भी भवन की मरम्मत के लिए आवेदन दिया है. लेकिन आज तक न तो कोई जनप्रतिनिधि इस पर ध्यान दे रहा है और न ही कोई अधिकारी.

स्कूल की शिक्षिका रेखा बताती हैं कि मजबूरन बच्चों को खुले आसमान के नीचे पढ़ाई करनी पड़ रही है. पीने के पानी के लिए भी छोटे-छोटे मासूम बच्चों को समस्या बनी हुई है. स्कूल में स्थित बोरिंग का पानी खारा निकल रहा है, जिसके कारण बच्चे उसे पी नहीं पीते हैं.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज