• Home
  • »
  • News
  • »
  • chhattisgarh
  • »
  • नकल रोकने आए उड़नदस्ते ने बच्चों के उतरवाए कपड़े, व्यथित छात्रा ने की खुदकुशी

नकल रोकने आए उड़नदस्ते ने बच्चों के उतरवाए कपड़े, व्यथित छात्रा ने की खुदकुशी

अपने साथ परीक्षा दे रही छात्राओं से इस तरह की हरकत किए जाने से व्यथित 10वीं की एक छात्रा ने फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली है.

  • Share this:
छत्तीसगढ़ के जशपुर जिले से एक दिल दहला देने वाला मामला सामने आ रहा है. बोर्ड परीक्षाओं के मद्देनजर नकल पर रोक लगाने वाले उड़नदस्ता टीम द्वारा छात्र-छात्राओं के कपड़े उतरवाकर जांच किए जाने का मामला सामने आया है. अपने साथ परीक्षा दे रही छात्राओं से इस तरह की हरकत किए जाने से व्यथित 10वीं की एक छात्रा ने फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली है.

मामला जशपुर के बगीचा विकासखंड के पंडरापाठ उच्चतर माध्यमिक विद्यालय का है जहां 10 बोर्ड का परीक्षा केंद्र बनाया गया था. 1 मार्च को आयोजित 10वीं बोर्ड की परीक्षा में नकल जांच करने के लिए जिले की उड़नदस्ता टीम परीक्षा केंद्र पंहुची. टीम ने छात्र-छात्राओं को अलग कमरे में ले जाकर उनके कपड़े उतरवाए और बच्चों की जांच की. टीम की जांच के बाद एक बच्चे पर रेस्टीकेशन की कार्रवाई भी की गई. इस जांच प्रक्रिया में छात्र-छात्राएं को काफी परेशान हुई. इस जांच के बाद स्कूली बच्चे काफी डर गए थे. इस तरह की जांच के बाद एक छात्रा इतनी व्यथित हो गई की उसने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली. जिस छात्रा ने सुसाइड किया है वह विशिष्ट पिछड़ी जनजाति पहाड़ी कोरवा परिवार से बताई जा रही है. परिवार के लोग इस मामले में कार्रवाई की मांग कर रहे है.

मामले का खुलासा तब हुआ जब पिछले 4 मार्च को 10वीं की परीक्षा लिख रही छात्रा ने फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली. इससे पहले मृतिका ने अपने भाई को स्कूल की घटना के बारे में भी बताया था. इसके बाद मामले में जांच प्रक्रिया से गुजरने वाले छात्र-छात्राओं ने इस पूरे मामले की जानकारी दी. छात्रों के साथ स्कूल के शिक्षकों ने भी कपड़े उतरवाकर जांच किए जाने के मामले में आपत्ति जताई है. शिक्षकों का कहना है कि यहां परीक्षा के दौरान जिले से टीम आई थी. यह नियम विरुद्ध है. इसके बाद भी परीक्षार्थियों के समय बर्बाद किया गया. वहीं कपड़े उतरवाने से बच्चे लज्जित महसूस करते हैं.

वहीं इस मामले को एसडीएम डॉ. रवि मित्तल ने बेहद संवेदनशील बताया और कहा कि बच्चों पर इसका गलत असर पड़ता है. यह गंभीर मामला है. जांच कर कड़ी कार्रवाई की बात उन्होंने कही है. जशपुर जिले के प्रभारी मंत्री उमेश पटेल ने भी इस मामले पर कार्रवाई किए जाने का आश्वासन दिया है.

ये भी पढ़ें:

हेलमेट के प्रति जागरूकता लाने ये है ट्रैफिक पुलिस का नया प्रयोग

शहीद स्मारक के लोकार्पण समारोह का निमंत्रण नहीं मिलने से पूर्व मंत्री राजेश मूणत नाराज!

छत्तीसगढ़: पुलिस विभाग में बदलाव के बावजूद रायपुर में कम नहीं हो रहा क्राइम

ODF मामले में पिछली सरकार के गड़बड़ियों की होगी जांच: मंत्री टीएस सिंहदेव

ढोढ़ी का गन्दा पानी पीने मजबूर है राष्ट्रपति के दत्तक पुत्र पहाड़ी कोरवा 

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पाससब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स        

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज