Home /News /chhattisgarh /

घर में सो रहे परिवार पर हाथी ने किया हमला, 17 साल की किशोरी की मौत

घर में सो रहे परिवार पर हाथी ने किया हमला, 17 साल की किशोरी की मौत

छत्तीसगढ़ के वन प्रवासी हाथियों को रास आने लगे हैं. demo pic.

छत्तीसगढ़ के वन प्रवासी हाथियों को रास आने लगे हैं. demo pic.

धान खाने की लालच में आया हाथी पीड़ि‍त परिवार के घर का दरवाजा तोड़ कर अंदर घुस गया था.

    छत्तीसगढ़ के जशपुर जिले में हाथी ने गहरी नींद में सो रहे परिवार पर हमला कर दिया. हाथी के हमले में एक 17 साल की किशोरी की मौत हो गई. वहीं, किशोरी की मां और बहन घायल हो गए. फिलहाल घायलों का इलाज किया जा रहा है, जहां उनकी हालत खतरे से बाहर बताई जा रही है. वन विभाग ने तात्‍कालिक मुआवजे के तौर पर पीड़ि‍त परिवार को 25 हजार रुपए दिए हैं.

    धान खाने आए हाथी ने किया हमला

    घटना शुक्रवार देर रात की बताई जा रही है. जानकारी के मुताबिक, नारायणपुर वन परिक्षेत्र के रमसमा के शिक्टाटोली गांव में मुनि बाई अपनी दो बेटी ललिता (17 साल) और वर्षा (7 साल) के साथ रहती हैं. घटना की रात पूरा परिवार अपने घर में सो रहा था. अचानक धान खाने की लालच में आए एक हाथी ने उनके घर का दरवाजा तोड़ दिया और अंदर घुस गया. मुनि बाई और उसकी छोटी बेटी वर्षा अपनी जान बचाने के लिए घर से बाहर भागे, लेकिन ललिता को हाथी ने पटक-पटक कर मार डाला. मां-बेटी ने घर के पास खुद को छिपा लिया. हाथी के जाने के बाद एंबुलेंस से ललिता को बगीचा अस्पताल लाया गया, लेकिन इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई. वहीं, मुनि बाई और उसकी बेटी वर्षा का इलाज किया जा रहा है.

    ये भी पढ़ें:

    VIDEO: नक्सली हमले में मारे गए भीमा मंडावी की पत्नी ने बीजेपी पर लगाया ये बड़ा आरोप 

    खेलते वक्त अचानक खौलते दूध में गिरा बच्चा, झुलसने से मासूम की दर्दनाक मौत 

    छत्तीसगढ़ की इस सीट पर जीत के आंकड़े से ज्यादा वोट नोटा को, जांच की मांग कर रही बीजेपी 

    एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स      

     

    Tags: Chhattisgarh news, Elephants are reaching the village, Jashpur news, Raipur news

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर