बैंक की गलती से व्यापारी के खाते में आए लाखों रुपए
Jashpur News in Hindi

बैंक की गलती से व्यापारी के खाते में आए लाखों रुपए
पीड़ित व्यापारी संजय बाबूलाल जैन

छत्तीसगढ़ में जशपुर जिले के एक व्यापारी के खाते में बैंक की गलती से लाखों रुपए आ गए हैं. अब व्यापारी खुश होने की जगह और परेशान हो गया है. ऐसे में व्यापारी को अब डर सता रहा है कि आयकर विभाग जब उससे सवाल करेगा तो वह क्या जवाब देगा.

  • Share this:
छत्तीसगढ़ में जशपुर जिले के एक व्यापारी के खाते में बैंक की गलती से लाखों रुपए आ गए हैं. अब व्यापारी खुश होने की जगह और परेशान हो गया है. ऐसे में व्यापारी को अब डर सता रहा है कि आयकर विभाग जब उससे सवाल करेगा तो वह क्या जवाब देगा. संबंधित मामले में बैंक प्रबंधन भी कुछ कहने से डर रहा है. मामला कुनकुरी शहर का है.

दरअसल, यहां पद्मन टाइल्स एंड मार्बल फर्म के खाते में बीते 20 जनवरी को दोपहर करीब 2.04 बजे पहला ट्रांजेक्शन करीब 40 हजार रुपए का हुआ था. ये पैसे तारा स्व सहायता के खाते से आया था जबकि तारा स्व सहायता समूह ने इस दुकान से मार्बल खरीदा ही नहीं है.

इतना ही नहीं हर 2 से 3 मिनट के अंतराल में फर्म के खाते में हजारों रुपए आते चले गए. इसके बाद शाम करीब 5.26 बजे तक कुल 21 ट्रांजेक्शन हुए. फर्म के संचालक संजय जैन की मानें तो इस तरह करीब 10 लाख से भी ज्यादा रुपए स्टेट बैंक कुनकुरी ब्रांच से इलाहाबाद बैंक के करंट एकाउंट में आ गए हैं. हालांकि जब ये लाखों रुपए उनके एकाउंट में आए, तब व्यापारी घरेलू काम से झारखंड में था. वहीं घर लौटने पर जब मोबाइल में टेक्स्ट मैसेज देखा तो वह परेशान हो गया. इसमें केवल 2 ट्रांजेक्शन ही सही है जो व्यापारी के ग्राहकों के खाते से आए हैं.



बहरहाल, इसके बाद व्यापारी से उन रुपयों की मांग करने लगे जो कई ग्राहकों के खाते से निकल गए थे. वहीं व्यापारी संजय जैन ने मीडिया को बताया कि अधिकारियों का बर्ताव सही नहीं था. वो रुपए वापस करने के लिए बदतमीजी पर उतर आए थे. गलती एसबीआई के स्टाफ की थी और डपट व्यापारी को रहे थे, जिससे अब संजय जैन मानसिक रूप से परेशान हो गए हैं.
वहीं इस मामले में जब इलाहाबाद बैंक के मैनेजर बी. मिंज से बात की गई तो उन्होंने बताया कि एक बैंक से दूसरे बैंक के खाते में खाताधारकों की बिना जानकारी में रुपयों का ट्रांसफार्मर होना सही नहीं है. इसे क्लेरिकल मिस्टेक भी कहा जा सकता है, लेकिन सही स्थिति स्टेट बैंक के अधिकारी ही बता पाएंगे.

 
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज