आवंटित भूमि के सीमांकन के लिए तारीख पर तारीख दिए जाने पर ईसाई समुदाय भड़का
Jashpur News in Hindi

आवंटित भूमि के सीमांकन के लिए तारीख पर तारीख दिए जाने पर ईसाई समुदाय भड़का
कलेक्ट्रेट में घुसकर धरने पर बैठे ईसाई समुदाय के लोग

जशपुर जिला मुख्यालय के दरबारी टोली में ईसाई समुदाय के लिए 10 साल से आवंटित भूमि का विवाद खत्म होने के बजाय और तूल पकड़ता जा रहा है. बीते बुधवार की शाम तक सीमांकन नहीं होने पर ईसाई समुदाय के लोग कलेक्ट्रेट में घुसकर धरने पर बैठ गए हैं.

  • Share this:
छत्तीसगढ़ में जशपुर जिला मुख्यालय के दरबारी टोली में ईसाई समुदाय के लिए 10 साल से आवंटित भूमि का विवाद खत्म होने के बजाय और तूल पकड़ता जा रहा है. सीमांकन के लिए तारीख पर तारीख दिए जाने के बाद बीते बुधवार की शाम तक सीमांकन नहीं होने से ईसाई समुदाय भड़क गया है. विवादित भूमि से सैकड़ों की संख्या में ईसाई समुदाय के लोग कलेक्ट्रेट में घुसकर धरने पर बैठ गए हैं.

दरअसल, शासकीय भूमि को कब्रिस्तान के नाम पर आवंटित करने के बाद कुछ लोगों द्वारा जमीन के काफी हिस्सों पर कब्जा कर लिया गया है. ये कब्जाधारी किसी दूसरे समुदाय के हैं. कब्रिस्तान की भूमि पर जब ईसाई समुदाय ने सीमांकन कराना चाहा तब पता चला कि आवंटित भूमि पर कई लोगों ने अवैध रूप से कब्जा कर लिया है और बकायदा मकान बनाकर वहां रह रहे हैं.

इसी क्रम में बीते 27 फरवरी को कमिश्नर कोर्ट से ईसाई समुदाय के पक्ष में फैसला आने के बाद सीमांकन होना था, जो नहीं हुआ. इसके बाद बीते 5 मार्च की तारीख दी गई, लेकिन उस तारीख के बाद भी सीमांकन की तारीख 7 मार्च तय कर दी गई. इसके बाद पुलिस फोर्स के साथ जब राजस्व की टीम मौके पर सीमांकन करने पहुंची तब भी कब्जाधारी लोगों ने सीमांकन होने नहीं दिया.



लिहाजा, इस दौरान शाम हो जाने के बाद ईसाई समुदाय के लोग भड़क गए और कलेक्टर से मिलने के लिए बुधवार शाम 6 बजे कलेक्ट्रेट पहुंच गए. हालांकि कलेक्टर डॉ. प्रियंका शुक्ला दौरे पर थीं, जिसके बाद भड़के हुए लोग कलेक्ट्रेट के अंदर ही धरने पर बैठ गए.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading