लाइव टीवी

छत्तीसगढ़ में धर्मान्तरित आदिवासियों के आरक्षण को खत्म करने की मांग

Deepak Singh | News18 Chhattisgarh
Updated: July 4, 2018, 1:08 PM IST
छत्तीसगढ़ में धर्मान्तरित आदिवासियों के आरक्षण को खत्म करने की मांग
छत्तीसगढ़ में धर्मान्तरित आदिवासियों के आरक्षण को खत्म करने की मांग

छत्तीसगढ़ के पूर्व ट्राइबल मंत्री गणेशराम भगत ने छत्तीसगढ़ में भी धर्मान्तरित आदिवासियों के आरक्षण को खत्म करने की मांग को लेकर आगामी 16 जुलाई को विशाल रैली करने का ऐलान किया है.

  • Share this:
झारखंड में धर्मान्तरित आदिवासियों के आरक्षण को समाप्त करने की पहल के बाद अब छत्तीसगढ़ में भी धर्मान्तरित आदिवासियों के आरक्षण को खत्म करने की मांग तेज हो गई है. छत्तीसगढ़ के पूर्व ट्राइबल मंत्री गणेशराम भगत ने छत्तीसगढ़ में भी धर्मान्तरित आदिवासियों के आरक्षण को खत्म करने की मांग को लेकर आगामी 16 जुलाई को विशाल रैली करने का ऐलान किया है.

आपको बता दें कि छत्तीसगढ़ के आदिवासी नेता और पूर्व मंत्री गणेशराम भगत पिछले 10 सालों से रैली और जुलूस के माध्यम से धर्मान्तरित आदिवासियों के आरक्षण को खत्म करने की मांग कर रहे हैं. पूर्व मंत्री गणेशराम भगत ने धर्मान्तरित आदिवासियों पर दोहरा लाभ लेने का आरोप लगाते हुए झारखंड की तर्ज पर उनका आरक्षण खत्म करने की मांग की है.

इसी सिलसिले में आगामी 16 जुलाई को जिला मुख्यालय में हजारों की संख्या में आदिवासी विशाल रैली आयोजित कर धर्मान्तरित आदिवासियों के आरक्षण खत्म करने की मांग करेंगे.

मामले में जनजातीय सुरक्षा मंच के प्रवक्ता राम प्रकाश पांडेय का कहना है कि झारखंड सरकार ने जो अध्यादेश लाया है उस विषय पर अखिल भारतीय जनजाति सुरक्षा मंच के नाम से देशभर में वे काम कर रहे हैं. उन्होंने कहा कि साल 2007 में इस संगठन की स्थापना हुई थी. इस संगठन का एकमात्र उद्देश्य यही है कि धर्मान्तरित आदिवासियों को जनजाति सूची से बाहर किया जाए.

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए जशपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: July 4, 2018, 1:08 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर