स्थानीय बिचौलिए से किसान परेशान, नहीं बढ़ने दे रहे टमाटर के दाम

एक ओर जहां बेमौसम बारिश के बाद टमाटर की फसल खराब होने लगी है, तो वहीं दूसरी तरफ टमाटर के दाम नहीं बढ़ने से किसानों में काफी नाराजगी है.

Deepak Singh | News18 Chhattisgarh
Updated: December 21, 2018, 2:43 PM IST
स्थानीय बिचौलिए से किसान परेशान, नहीं बढ़ने दे रहे टमाटर के दाम
स्थानीय बिचौलिए से किसान परेशान, नहीं बढ़ने दे रहे टमाटर के दाम
Deepak Singh
Deepak Singh | News18 Chhattisgarh
Updated: December 21, 2018, 2:43 PM IST
छत्तीसगढ़ के जशपुर जिले में टमाटर किसान इन दिनों खासे परेशान हैं. एक ओर जहां बेमौसम बारिश के बाद टमाटर की फसल खराब होने लगी है, तो वहीं दूसरी तरफ टमाटर के दाम नहीं बढ़ने से किसानों में काफी नाराजगी है. किसानों ने स्थानीय व्यापारियों और बिचौलियों पर दाम नहीं बढ़ने देने का आरोप लगाया है. बता दें कि जशपुर में किसानों से व्यापारी 3 रुपए प्रति किलो की दर से टमाटर खरीद रहे हैं, जिससे किसानों की लागत तक नहीं निकल पा रही है.

जशपुर जिले के पत्थलगांव और लुड़ेग क्षेत्र को टमाटर नगरी के नाम से जाना जाता है. यहां के किसानों ने कम दाम से नाराज होकर 2 साल पहले सड़कों पर हजारों किलो टमाटर फेंक दिया था. इस बार भी हालात कुछ ऐसे ही हैं. इस साल भी मंडी में स्थानीय व्यापारी 3 रुपए प्रति किलो की दर से किसानों से टमाटर खरीद रहे हैं.



किसानों का आरोप है कि स्थानीय व्यापारियों और बिचौलियों की वजह से उनको टमाटर औने-पौने दाम में बेचने पड़ रहे हैं. स्थानीय बिचौलिए और व्यापारी बाहरी व्यापारियों को मंडी में आने नहीं देते और अगर कोई व्यापारी आता भी है तो उस पर दबाव बनाकर कम दाम में खरीदने को मजबूर कर देते हैं. वहीं इस मामले में प्रशासन चुप्पी साधे बैठा है.

बहरहाल, टमाटर के दाम नहीं बढ़ने से किसान चिंतित हैं. सरकार ने तो बैंक से ऋण माफ कर दिया है, लेकिन खेती के लिए स्थानीय व्यापारियों से लिया कर्ज वो कैसे चुकाएंगे. अगर टमाटर के दाम जल्द नहीं बढ़ते हैं, तो इस बार भी किसान सड़क पर टमाटर फेंकने पर मजबूर हो जाएंगे.

ये भी पढ़ें:- पत्थलगांव क्षेत्र के टमाटर किसानों पर गहराया संकट, नहीं निकल पा रही लागत

ये भी पढ़ें:- जशपुर में ठंड की वजह से दो लोगों की मौत!
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...