मानवता शर्मसार: अस्पताल ने मृतक का शव बाथरूम में रखा
Jashpur News in Hindi

मानवता शर्मसार: अस्पताल ने मृतक का शव बाथरूम में रखा
अस्पताल के बाथरूम में रखे शव के पास बैठा मृतक का पिता

अस्पताल प्रबंधन खुद भी स्वीकर कर रहा है कि शव को इस प्रकार से रखा जाना ठीक नहीं है. लेकिन जगह के आभाव में उसके पास कोई अन्य विकल्प नहीं था.

  • Share this:
छत्तीसगढ़ के जशपुर में हुई एक घटना ने मानवता को शर्मसार कर दिया है. यहा के सन्ना प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र में जगह के आभाव में मृतक का शव बाथरूम में रखे जाने की घटना प्रकाश में आई है. अस्पताल प्रबंधन खुद भी स्वीकर कर रहा है कि शव को इस प्रकार से रखा जाना ठीक नहीं है. लेकिन जगह के आभाव में उसके पास कोई अन्य विकल्प नहीं था.

जशपुर के चलनी गांव के रहने वाले बिट्टू राम का अपनी पत्नी से शराब पीने को लेकर विवाद हो गया था. इसके बाद गुस्साए हुए बिट्टू राम ने तैश में आकर कीटनाशनक पी लिया. परिजनों से 108 संजीवनी एंबुलेंस के जरिए बिट्टू राम को अस्पताल ले जाने की कोशिश की लेकिन एंबुलेंस उपलब्ध ही नहीं हो सकी. आखिरकार मरीज को दूसरे साधन से अस्पताल ले जाया गया, लेकिन अस्पताल पहुंचने से पहले ही उसने दम तोड़ दिया.

अस्पताल में चिकित्सक के न होने से शव का तत्काल पोस्टमार्टम संभव नहीं था. ऐसे में शव को रात भर अस्पताल में रखना जरूरी थी. अस्पताल प्रबंधन ने शव को नजदीक बने शौचालय में रखवा दिया. जब इस संबंध में अस्पताल प्रबंधन से सवाल किया गया तो चिकित्सक डॉ सुनील लकड़ा ने स्वीकार किया कि शव को इस प्रकार रखा जाना उचित नहीं है, लेकिन उनके पास इसके अलावा कोई चारा भी नहीं था.



 
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज