लाइव टीवी

जान हथेली में रखकर स्कूल जाते है शिक्षक, ये है वजह

Deepak Singh | News18 Chhattisgarh
Updated: July 28, 2018, 4:01 PM IST
जान हथेली में रखकर स्कूल जाते है शिक्षक, ये है वजह
बच्चों को स्कूल तक जाने नहीं बनाई गई सड़क

स्कूल का निर्माण ऐसी जगह किया गया है जहां जाने को सड़क तक नहीं है. ऐसे में स्कूली बच्चे एवं शिक्षक जान हथेली पर रखकर स्कूल तक पहुंचते है.

  • Share this:
छत्तीसगढ़ के जशपुर जिले के सरबकोम्बो में स्कूल निर्माण के समय जगह चयन में अधिकारियों की लापरवाही का खामियाजा अब वहां के छात्र-छात्राओं एवं शिक्षकों को भुगतना पड़ रहा है. स्कूल का निर्माण ऐसी जगह किया गया है जहां जाने को सड़क तक नहीं है. ऐसे में स्कूली बच्चे एवं शिक्षक जान हथेली पर रखकर स्कूल तक पहुंचते है. स्कूल भवन के निर्माण में लाखों रुपए खर्च किए गए लेकिन स्कूल तक पहुंचने के लिए सड़क ही बनाना भूल गए.

मामला जशपुर के सरबकोम्बो का है. सरबकोम्बो हाईस्कूल का निर्माण लगभग नौ साल पहले हुआ था. लेकिन स्कूल निर्माण के दौरान अधिकारियों की लापरवाही से स्कूल भवन का निर्माण ऐसी जगह पर किया गया जहां जाने को सड़क तक नहीं है. लाखों की लागत से स्कूल भवन का निर्माण तो कर दिया गया लेकिन वहां पर विभाग ने सड़क निर्माण को जरूरी नहीं समझ. इसका खामियाजा नौ सालों से शिक्षक और छात्र भुगत रहे है. इन सभी को स्कूल पहुंचने के लिए आधा किलोमीटर तक जान हथेली में लेकर सफर करना पड़ता है. मामले में बीईओ मनीराम यादव का कहना है कि जल्द स्कूल तक पहुंचने के लिए सड़क का निर्माण करा दिया जाएगा.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए जशपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: July 28, 2018, 3:58 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर