आखिर यहां धान की रोपाई क्यों कर रहे हैं स्कूली बच्चे?

जशपुर जिले के बगीचा इलाके के एक स्कूल में ना तो अभी तक किताबें बंट पाई है और ना ही पढ़ाई शुरू हो पाई है. इस वजह से स्कूली बच्चे स्कूल छोड़कर खेतों में काम कर रहे है.

Deepak Singh | News18 Chhattisgarh
Updated: July 23, 2019, 6:02 PM IST
आखिर यहां धान की रोपाई क्यों कर रहे हैं स्कूली बच्चे?
स्कूलों में नहीं हो रही पढ़ाई, खेत में काम कर रहे बच्चे.
Deepak Singh
Deepak Singh | News18 Chhattisgarh
Updated: July 23, 2019, 6:02 PM IST
छत्तीसगढ़ के जशपुर जिले में शिक्षा व्यवस्था पर सवाल खड़े हो रहे है. बता दें कि नए शिक्षा सत्र को शुरू हुए डेढ़ महीने का समय बीतने वाला है, लेकिन जशपुर जिले के बगीचा इलाके के एक स्कूल में ना तो अभी तक किताबें बंट पाई है और ना ही पढ़ाई शुरू हो पाई है. इस वजह से स्कूली बच्चे स्कूल छोड़कर खेतों में काम कर रहे है.

ये है पूरा मामला

पूरा मामला बगीचा के प्राथमिक शाला खखरा का है. शिक्षा सत्र शुरू होने के बाद भी इस स्कूल में अभी तक ना ही पूरी किताबें बंट पाई है और ना ही पढ़ाई शुरू हो पाई है. छात्रों का कहना है कि स्कूल के टीचर स्कूल तो आते है मगर क्लास नहीं लेते. स्कूल में पढ़ाई नहीं हो रही है. इस वजह से वे खेतों में रोपा-बीड़ा लगा रहे है.

जिम्मेदारों ने कही ये बात

इस मामले में स्कूल के सहायक प्रधानपाठक का कहना है कि स्कूल में अभी तक पढ़ाई शुरू नहीं हो पाई है लेकिन अब स्कूल में जल्द ही पढ़ाई शुरू करवा दी जाएगी. वहीं बगीचा बीईओ मनीराम यादव का कहना है कि इस मामले की जांच की जाएगी. जांच के बाद जिम्मेदारों पर कार्रवाई होगी.

ये भी पढ़ें: 

सुकमा के भेज्जी इलाके में मुठभेड़, मारा गया एक लाख का इनामी नक्सली 
Loading...

छत्तीसगढ़: बारिश के लिए करना होगा अभी और इंतजार, मौसम विभाग ने जताई ये आशंका 
First published: July 23, 2019, 3:00 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...