लाइव टीवी

पंचायत कार्यों में अनियमितता पर पंचायत सरपंच और रोजगार सहायक को मिली ये सजा

Deepak Singh | News18 Chhattisgarh
Updated: December 21, 2018, 12:53 PM IST
पंचायत कार्यों में अनियमितता पर पंचायत सरपंच और रोजगार सहायक को मिली ये सजा
प्रतिकात्मक तस्वीर

छत्तीसगढ़ के जशपुर जिले के खूंटापानी पंचायत सरपंच और रोजगार सहायक को पंचायत के निर्माण कार्यों में अनियमितता बरतने पर सजा सुनाई गई है.

  • Share this:
छत्तीसगढ़ के जशपुर जिले के खूंटापानी पंचायत सरपंच और रोजगार सहायक को पंचायत के निर्माण कार्यों में अनियमितता बरतने पर सजा सुनाई गई है. पत्थलगांव प्रथम श्रेणी न्यायिक मजिस्ट्रेट लोकेश राहुल ने सरपंच और रोजगार सहायक को 6-6 वर्ष की सजा और 5-5 हजार रुपये के अर्थदंड से दंडित किया किया गया है. पत्थलगांव विकासखण्ड के ग्राम पंचायत खूंटापानी में वर्ष 2010-11 में मनरेगा के तहत द्वितीय श्रेणी सड़क निर्माण और तटबंध का निर्माण करना था जिसका निर्माण एजेंसी पंचायत को बनाया गया था.

(ये भी पढ़ें: PHOTOS: भूपेश के कैबिनेट में इनका मंत्री बनना लगभग तय, जानें क्यों?)

बता दें कि मनरेगा के तहत कराए जा रहे निर्माण कार्यों का संपादन ग्रामीण लोगों से ही किया जाना था, लेकिन पंचायत के सरपंच और सचिव ने निर्माण कार्यों के दौरान जेसीबी मशीनों का उपयोग किया था और फर्जी मस्टर रोल तैयार कर राशि आहरित कर ली गयी थी. इसकी शिकायत पंचायत के उपसरपंच समेत कई ग्रामीणों ने बागबहार थाने में की थी.

ये भी पढ़ें: विनोद वर्मा CM बघेल के राजनीतिक सलाहकार नियुक्त, रुचिर गर्ग होंगे मीडिया एडवाइज़र

मामले कि सुनवाई के दौरान ही पंचायत सचिव की मृत्यु हो जाने से न्यायलय ने पंचायत सरपंच और रोजगार सहायक के खिलाफ सजा सुनाते हुए 6-6 वर्ष के कठोर कारावास से दंडित किया. पत्थलगांव के जेएमएफसी के अभियोजन अधिकारी सौरभ समैया जैन ने बताया कि प्रकरण में लंबी सुनवाई के बाद सजा सुनवाई गई है.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए जशपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 21, 2018, 12:53 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर