दूसरे से सगाई से नाराज प्रेमी ने युवती का अपहरण कर किया रेप, गिरफ्तार
Jashpur News in Hindi

दूसरे से सगाई से नाराज प्रेमी ने युवती का अपहरण कर किया रेप, गिरफ्तार
सांकेतिक तस्वीर

ड्यूटी जा रही नर्स का दिनदहाड़े अपहरण की घटना को सुलझाने का दावा जशपुर पुलिस ने किया है.

  • Share this:
ड्यूटी जा रही नर्स का दिनदहाड़े अपहरण की घटना को सुलझाने का दावा जशपुर पुलिस ने किया है. पुलिस का दावा है कि 10 घंटे के भीतर नर्स को अपहरणकर्ताओं के चंगुल से छुड़ाते हुये सभी आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है. जशपुर के मैनपाठ के जंगल में स्थित इकलौते सुने मकान में नर्स को लेकर आरोपी छुपा था, जहां 15 किलोमीटर पैदल चलकर पहुंची पुलिस ने घेराबंदी कर आरोपी के पास से कट्टा भी जब्त किया है.

पुलिस के मुताबिक आरोपी पूर्व प्रेमी ने युवती के दूसरे युवक से सगाई करने से नाराज था. आरोपी ने अपहरण के बाद युवती के साथ दुष्कर्म भी किया. मामला जशपुर जिले के पंडरापाठ चौकी क्षेत्र का है, जहां ड्यूटी जा रही एक नर्स का मंगलवार की दोपहर 11.30 बजे दिनदहाड़े अपहरण कर लिया गया था.

पांच नकाबपोश आरोपी नर्स को उस वक्त सड़क से उठाकर टाटा सूमो वाहन में ले गए थे, जब वह ड्यूटी से अपने घर लौट रही थी.
दिनदहाड़े अपहरण की घटना की सूचना थाने में मिलते ही एसपी के निर्देश पर पुलिस ने ऐसी तत्परता से कार्य किया कि अपहरण के सभी पांच आरोपी महज 10 घंटे के भीतर गिरफ्तार कर लिए गए. पुलिस ने आरोपियों के चंगुल से अपहर्ता नर्स को भी सकुशल बरामद कर परिजन को सौंप दिया है.



घटना के मुख्य आरोपी के पास से पुलिस ने एक देसी कट्टा और चाकू भी जब्त किया है. जशपुर एसपी प्रशांत सिंह ठाकुर ने घटना की सूचना मिलते ही बगीचा थाना प्रभारी राजेश मरई और पंडरापाठ चौकी प्रभारी की दो टीम बनाई और मामले की तहकीकात शुरू करवा दी. प्रारंभिक जांच में पुलिस ने अपहर्त नर्स के बारे में जानकारी जुटाई तो पता चला कि यह अपहरण किसी फिरौती के लिए नहीं किया गया है.
नर्स के बारे मे पुलिस को पता चला कि हाल ही में उसकी सगाई हुई है और इससे पहले उसका अंबिकापुर जिले के लुंड्रा थानाक्षेत्र अंतर्गत ग्राम करदौना निवासी आसू लोहार से प्रेम संबंध थे. जबकि सगाई किसी दूसरे लड़के से हुई है. पुलिस के शक की सुई आसू उर्फ कविता पर गई जब उनका टावर लोकेशन निकाला गया तो उनका लोकेशन उनके गांव करदौनी में मिला जिस पर और बगीचा पुलिस की टीम तत्काल लुंड्रा थाना क्षेत्र के ग्राम करदौनी पहुंची. जहां आरोपी पुलिस को नहीं मिला.

पु
लिस ने गांव में उस टाटा सुमो का पता कर लिया, जिससे नर्स किडनैप की गई थी.
टाटा सुमो के ड्राईवर लोधो राम को पुलिस ने पकड़कर पूछताछ की तो उसने गांव के तीन अन्य लड़कों का नाम बताया जो कि वारदात में शामिल थे. पुलिस ने उन लड़कों को गांव में उनके घरों में दबिश देकर पकड़ लिया. पकड़े गए ये तीन लड़के नाबालिग हैं. अपहरण के मुख्य आरोपी आसू की तलाश में पुलिस की टीम ने रातभर मैनपाठ के जंगल में गुजारा.

पकड़े गए आरोपियों से पूछताछ करने पर पुलिस को पता चला कि आरोपी आसू लड़की को लेकर मैनपाठ के जंगल में एक सूने मकान में है. एक आरोपी था जिसे उस अड्डे का पता था. पुलिस ने जब आसू के बारे में जानकारी जुटाई तो यह भी पता चला कि वह अपराधी किश्म का है और उसके पास घातक हथियार हो सकते हैं. पुलिस ने इसके लिए स्पेशल प्लान बनया और रात में पुलिस मैनपाठ के जंगल में पहुंची.

थाना प्रभारी राजेश मरई के साथ पुलिस की टीम करीब 15 किमी तक टार्च की रौशनी में जंगल में चलती रही और सूने मकान को पुलिस ने घेर लिया. मकान में जब पुलिस ने दबिश दी तो यहां से आरोपी निकला और इसी मकान में डरी सहमी हुई नर्स भी थी. पुलिस ने नर्स को तत्काल अपने संरक्षण में लिया और आरोपी को दबोच लिया. आरोपी के पास से पुलिस ने एक देसी कट्टा और धारदार चाकू बरामद किया है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज