शिक्षक का ज्ञान: सप्‍ताह में होते हैं छह दिन, घरों की निगरानी रखते हैं गृह मंत्री
Jashpur News in Hindi

शिक्षक का ज्ञान: सप्‍ताह में होते हैं छह दिन, घरों की निगरानी रखते हैं गृह मंत्री
शिक्षक पंचायत राजेन्द्र सूर्यवंशी द्वारा बच्चों की ली जा रही क्लास.

गडैरटोली को लेकर आई मीडिया रिपोर्ट के बाद जशपुर के शिक्षा अधिकारी ने शिक्षक पंचायत राजेन्द्र सूर्यवंशी को निलंबित कर दिया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 10, 2018, 12:47 PM IST
  • Share this:
छत्तीसगढ़ के आदिवासी बाहुल्य जशपुर जिले में शिक्षा व्यवस्था का हाल भगवान भरोसे ही है. यहां के शासकीय स्कूलों पढ़ाई का आलम ये है कि शिक्षकों को पता ही नहीं है कि सप्ताह में छह दिन होते हैं या सात दिन. शिक्षक बकायदा बच्चों को ब्लैकबोर्ड पर लिखकर पढ़ा रहे हैं कि सप्ताह में छह दिन ही होते हैं. जशपुर के गडैरटोली प्राथमिक स्कूल में ये मामला सामने आया है.

जशपुर के गडैरटोलीडढ प्राथमिक शाला में शिक्षा व्यवस्था का बुरा हाल है. गडैरटोली स्कूल के शिक्षक राजेन्द्र कुमार सूर्यवंशी को स्कूल में लापरवाही पूर्वक पढ़ाते हुए रंगेहाथ पकड़ा गया. यहां शिक्षक बच्चों को बताते हैं कि गृह मंत्री का काम सरकारी आवास बनवाना व उसकी निगरानी करना होता है. इसके अलावा शिक्षा मंत्री के काम की भी गलत व्याख्या शिक्षक ने की.

शिक्षक पंचायत राजेन्द्र सूर्यवंशी द्वारा गडैरटोली स्कूल में बच्चों को दिया जा रहा ज्ञान.




गडैरटोली को लेकर आई मीडिया रिपोर्ट के बाद जशपुर के शिक्षा अधिकारी ने शिक्षक पंचायत राजेन्द्र सूर्यवंशी को निलंबित कर दिया है. जिला शिक्षा अधिकारी एन कुजुर ने बताया कि राजेन्द्र सूर्यवंशी को निलंबित करने के साथ ही क्षेत्र के बीईओ, बीआरसीसी, एडीईओ व सीएसी को शोकाज नोटिस भी जारी किया है. इसमें सभी को दो दिन के भीतर जवाब देने कहा गया है.
डीईओ एन कुजुर ने बताया कि 11 अप्रैल तक संतोषजनक जवाब नहीं मिलने पर दूसरे जिम्मेदारों पर भी कार्रवाई की जाएगी.
बता दें कि गडैरटोली प्राथमिक स्कूल में कई अनियमितताएं मिली हैं. मिली जानकारी के मुताबिक वहां एक दो बच्चों ही रोजाना उपस्थिति रहती है. इसके बावजूद प्रतिदिन 90 से 97 प्रतिशत बच्चों की उपस्थिति दर्ज कर दी जाती है.

शिक्षक पंचायत राजेन्द्र सूर्यवंशी द्वारा क्लास रूम को अपना आशियाना बना लिया गया है.


क्लास रूम को बनाया आशियाना
गडैरटोली स्कूल के शिक्षक बच्चों को पढ़ाने में लापरवाही तो कर ही रहे हैं. साथ ही स्कूल में जमकर मनमानी भी कर रहे हैं. शिक्षक पंचायत राजेन्द्र स्कूल के एक क्लास रूम को ही अपना आशियाना बना लिया था. आरोप है कि यहां शिक्षकों द्वारा शराबखोरी सहित अन्य अय्याशियां की जाती हैं. डीईओ कुजुर ने बताया कि शिक्षक राजेन्द्र पर कार्रवाई में इसको भी आधार बनाया गया है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज