• Home
  • »
  • News
  • »
  • chhattisgarh
  • »
  • Chhattisgarh: पूर्व विधायक युद्धवीर सिंह का निधन, अंतिम दर्शनों के लिए जशपुर लाया जायेगा पार्थिव शरीर

Chhattisgarh: पूर्व विधायक युद्धवीर सिंह का निधन, अंतिम दर्शनों के लिए जशपुर लाया जायेगा पार्थिव शरीर

जशपुर राजपरिवार के सदस्य पूर्व विधायक युद्धवीर सिंह का लिवर की बीमारी से निधन हो गया. (File)

जशपुर राजपरिवार के सदस्य पूर्व विधायक युद्धवीर सिंह का लिवर की बीमारी से निधन हो गया. (File)

Chhattisgarh: चंद्रपुर के पूर्व विधायक और जशपुर राजपरिवार के सदस्य युद्धवीर सिंह जूदेव नहीं रहे. बैंगलुरु के निजी अस्पताल में उन्होंने अंतिम सांस ली. युद्धवीर लंबे समय से लिवर की बीमारी से ग्रस्त थे. उनका पिछले एक महीने से इलाज चल रहा था. वे पूर्व केंद्रीय मंत्री स्व. दिलीप सिंह जूदेव के पुत्र थे.

  • News18Hindi
  • Last Updated :
  • Share this:

जशपुर. छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) के जशपुर (Jashpur) से बड़ी खबर है. जशपुर राजपरिवार (Jashpur Royal Family) के सदस्य और पूर्व विधायक युद्धवीर सिंह जूदेव (Yudhvir Singh Judev) का आज सुबह 4:30 बजे निधन हो गया है. बैंगलुरु के निजी अस्पताल में इलाज के दौरान उन्होंने आखिरी सांस ली. पिछले दो दिनों से उन्हें वेंटिलीटर पर रखा गया था. युद्धवीर का पिछले एक महीने से लिवर का इलाज चल रहा था. उनके पार्थिव शरीर को जशपुर लाया जा रहा है. मंगलवार को अंतिम दर्शन के लिए उनका पार्थिव शरीर आराम पैलेस में रखा जाएगा. अंतिम संस्कार भी कल ही होगा.

वे पूर्व केंद्रीय मंत्री बीजेपी नेता स्व. दिलीप सिंह जूदेव के पुत्र थे. युद्धवीर चन्द्रपुर से विधायक, संसदीय सचिव और ब्रेवरेजेस कॉर्पोरेशन के अध्यक्ष भी रह चुके थे. उल्लेखनीय है कि युद्धवीर छत्तीसगढ़ की प्रसिद्ध हस्तियों में से एक थे. वे किसी न किसी बहाने सुर्खियों में रहते थे. 5 महीने पहले भी नवा रायपुर इलाके में हुए हादसे में उनकी जान बाल-बाल बची थी. उस वक्त उनकी गाड़ी के सामने कोई जानवर आ गया था. उसे बचाने के लिए उन्होंने  गाड़ी सड़क की दूसरी दिशा में घुमा दी थी. इससे कार डिवाइडर से टकरा गई थी. जूदेव को सीने में हल्की चोट आई थी. इसके बाद वे खुद ही गाड़ी चलाकर मोवा स्थित बालाजी अस्पताल पहुंचे थे.

सोशल मीडिया पर एक्टिव रहते थे युद्धवीर

पूर्व केन्द्रीय मंत्री और कद्दावर नेता स्व. दिलिप सिंह जूदेव के पुत्र युद्धवीर सिंह जूदेव फेसबुक व अन्य दूसरे सोशल नेटवर्किंग साइट पर अपने पोस्ट व बयानों को लेकर भी चर्चा में रहे हैं. साल 2019 में उनकी एक FB पोस्ट भी वायरल हुई थी. ये पोस्ट उन्होंने खनन से जुड़े उद्योगपतियों के लिए लिखी थी. इस पोस्ट के बाद से सियासी गलियाआरों में चर्चाओं का दौर शुरू हो गया था.  युद्धवीर सिंह जूदेव ने फेसबुक पर लिखा था- ‘हमारी चट्टानों को चीरने से पहले अपना जीवन बीमा करवा लें. ‘सन्ना क्षेत्र के निवासी, जो मुश्किल वक्त में साथ देते हैं, सुना है कोई हेलीकॉप्टर लगातार ऊपर से गुजर रहा है. सरकार कोई भी हो लेकिन, सतर्क हो जाएं’

उनकी इस पोस्ट पर भी सियासत हुई थी गरम

उन्होंने 2018 में झीरमघाटी कांड और कांग्रेस नेता स्व. नंदकुमार पटेल को याद किया था. उनकी ये पोस्ट भी चर्चा का विषय बन गई थी. उन्होंने पोस्ट में लिखा था- अगर झीरमघाटी कांड नहीं होता तो स्व. नंदकुमार पटेल आज मुख्यमंत्री होते. झीरम नरसंहार में नंदकुमार पटेल सहित कांग्रेस के कई आला नेताओं की नक्सलियों ने हत्या कर दी थी. तब नंदकुमार पटेल प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष थे. इस बयान को लेकर राजनीतिक गलियारों में चर्चाओं का दौर शुरू हो गया था.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज