छत्तीसगढ़: कई इलाकों में हो सकती है भारी बारिश, सुकमा में तूफान से आफत
Kanker News in Hindi

छत्तीसगढ़: कई इलाकों में हो सकती है भारी बारिश, सुकमा में तूफान से आफत
छत्तीसगढ़ में नमी 80 से 100 फिसदी होने से हवाई सेवा पर भी इसका असर पड़ सकता है.

छत्तीसगढ़ में नमी 80 से 100 फिसदी होने से हवाई सेवा पर भी इसका असर पड़ सकता है.

  • Share this:
छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर समेत सूबे के कई इलाकों में शनिवार को जमकर बारिश हो सकती है. बस्तर और सरगुजा संभाग में भी अच्छी बारिश की आशंका जताई गई है. मौसम विभाग के मुताबिक छत्तीसगढ़ में दो सिस्टम सक्रिय हो गया है जिसकी वजह से प्रदेश के कई इलाकों में भारी बारिश हो सकती है. जानकारी के मुताबिक जगदलपुर इलाके में अब तक सबसे ज्यादा बारिश हुई है. वहीं प्रदेश में नमी 80 से 100 फिसदी होने से हवाई सेवा पर भी इसका असर पड़ सकता है.

सूकमा में तेज बारिश

सुकमा में तेज बारिश और तूफान ने काफी कोहराम मचाया. छिंदगढ़ के पूजारीपाल में शुक्रवार देर रात तूफान आया. कई ग्रामीणों के घरों की छत उड़ गई. तो वहीं कई कच्चे मकान गिर गए है. तेज हवाओं से इलाके के कई पेड़ गिर गए है. वहीं कलेक्टर चंदन कुमार के निर्देश पर प्रशासन की स्थानिय टीम  प्रभावित इलाके में पहुंची. लोगों को भोजन, कंबल समेत राहत सामग्री बांटी गई है. मालूम हो कि बीते दो दिनों से लगातार इस इलारे में बारिश हो रही है.



ओरछा नदी उफान पर
कांकेर जिले के अंतिम छोर महाराष्ट्र सीमा से लगी ओरछा नदी बारिश की वजह से उफान पर है. जान जोखिम में डालकर लोग इस उफनती नदी को पार कर रहे है. बारिश के बावजूद प्रशासन ने नदी पार करने की कोई व्यवस्था नहीं की है. बांदे थाना क्षेत्र के इरपनार के ओरछा गांव का ये मामला है.

तो वहीं कांकेर जिले में पहली ही बारिश में जैतल नदी उफान पर आ गई है. जान जोखिम में डाल कर लोग नदी पार कर रहे है. आजादी के 70 साल बाद भी इस नदी पर पुल नहीं बन सका है. बारिश की वजह से ब्लॉक मुख्यालय का संपर्क अंतागढ़ जैताल नदी से टूट गया है.

ये भी पढ़ें:

बेमेतरा में आधी रात टूटा बैंक का ताला, एटीएम लूटने की भी कोशिश 

राजनांदगांव में मानव तस्करी की आशंका, पुलिस ने 5 बच्चों का किया रेस्क्यू
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading