शराब दुकान के 5 कर्मचारियों के खिलाफ IPC की धारा के तहत मामला दर्ज

सुमित कंपनी के नोडल अधिकारी प्रदीप गुप्ता
सुमित कंपनी के नोडल अधिकारी प्रदीप गुप्ता

राज्य सरकार ने शराब पर अंकुश लगाने के लिए शराब की बिक्री करने में सरकारीकरण किया है, वहीं इसी क्रम में छत्तीसगढ़ के कांकेर जिले में शराब की दुकान में इन दिनों कई अनियमितता बरते जाने का मामला सामने आया है.

  • Share this:
छत्तीसगढ़ में जहां राज्य सरकार ने शराब पर अंकुश लगाने के लिए शराब की बिक्री करने में सरकारीकरण किया है, वहीं इसी क्रम में छत्तीसगढ़ के कांकेर जिले में शराब की दुकान में इन दिनों कई अनियमितता बरते जाने का मामला सामने आया है.

मामला कांकेर में स्थित शराब दुकान का है, जहां कई दिनों से शराब दुकान में तैनात कर्मियों द्वारा घोर अनियमितता बरते जाने की शिकायत मिल रही थी. आपको बता दें कि शराब दुकान का ठेका लेने वाली सुमित कंपनी के नोडल अधिकारी प्रदीप गुप्ता द्वारा थाने में शिकायत की गई थी. वहां इस शिकायत के आधार पर पुलिस द्वारा जांच करने पर करीब 12 लाख रुपए के घपले की बात सामने आई.

संबंधित मामले में जांच अधिकारी संदीप कुमार ने कहा कि इस पर शराब दुकान में तैनात 5 कर्मचारियों के खिलाफ पुलिस ने आईपासी की धारा 420, 408, 34 का मामला दर्ज किया है. साथ ही मामले में आगे की जांच की जा रही है.



वहीं कंपनी के नोडल अधिकारी प्रदीप गुप्ता का यह भी कहना है कि ये सब आबकारी अधिकारी की लापरवाही की वजह से हुआ है. प्रदीप गुप्ता का कहना है कि आबकारी विभाग की गलती का खामियाजा सीधे तौर पर कंपनी को भुगतना पड़ रहा है.
मालूम हो कि शराब बिक्री में किसी प्रकार का कोई घपला या किसी दलाल या कोचियों के संपर्क में न आए इसके लिए यह सरकारीकरण किया गया है. बावजूद, इसके शराब दुकानों में अनियमितता और पैसों का गबन किया जा रहा है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज