Crime: 500 रुपए लेकर 15 मिनट में बनाकर दे रहा था फर्जी आधार कार्ड, दुकान हुई सील

कांकेर के पखांजूर में तहसील कार्यालय के सामने कम्प्यूटर की दुकान में 500 रुपए लेकर महज 15 मिनट में हाथोंहाथ फर्जी आधार कार्ड बनाकर देने का खुलासा हुआ है, जिसके बाद दुकान को सील कर दिया गया है.

News18 Chhattisgarh
Updated: July 21, 2019, 12:00 PM IST
Crime: 500 रुपए लेकर 15 मिनट में बनाकर दे रहा था फर्जी आधार कार्ड, दुकान हुई सील
कांकेर के पखांजूर में तहसील कार्यालय के सामने कम्प्यूटर की दुकान में 500 रुपए लेकर महज 15 मिनट में हाथोंहाथ फर्जी आधार कार्ड बनाकर देने का खुलासा हुआ है, जिसके बाद दुकान को सील कर दिया गया है.
News18 Chhattisgarh
Updated: July 21, 2019, 12:00 PM IST
छत्तीसगढ़ के कांकेर जिले में राशन कार्ड के नवीनीकरण के कारण बीते 15 जुलाई से आधार कार्ड बनवाने के लिए काफी संख्या में लोग आ रहे हैं. वहीं लोगों की मजबूरी का फायदा उठाकर कुछ लोग आधार बनवाने की दलाली में जुट गए हैं, तो कुछ फर्जी आधार बनाकर लोगों को ठग रहे हैं. ताजा मामला जिले के पखांजूर का है. यहां तहसील कार्यालय के सामने कम्प्यूटर की दुकान में 500 रुपए लेकर महज 15 मिनट में हाथोंहाथ फर्जी आधार कार्ड बनाकर दिया जा रहा था.

जांच में पता चला आधार कार्ड फर्जी है

इस दौरान एक ग्रामीण 15 मिनट में अपने दो वर्ष के बेटे का आधार कार्ड बनवाकर ले आया, जिसे देख लोग हैरान रह गए. जांच करने पर पता चला कि आधार कार्ड फर्जी है. ग्रामीण की शिकायत के बाद पखांजूर तहसीलदार ने दुकान को सील कर दिया और पुलिस में मामला दर्ज कराने की बात कही है.

दुकान सील-shop seal
जांच में पता चला आधार कार्ड फर्जी है


पखांजूर से करीब 50 किलोमीटर दूर रेंगावाही से चैनूराम कावड़े अपने दो साल के बेटे सचेंद्र कावड़े का आधार बनाने गया था, ताकि राशन कार्ड सत्यापन में बेटे का नाम जुड़ सके. पखांजूर के चारों आधार सेंटर के चक्कर लगाने के बाद भी काम नहीं बना. इस पर उसे किसी ने बताया कि तहसील कार्यालय के सामने फोटोकॉपी की दुकान है, जहां आधार कार्ड बनता है.

इस तरह हुआ फर्जीवाड़े का खुलासा

इसके बाद वहां जाने के बाद दुकानदार अभिजीत कुंडू ने उसकी मां का आधार कार्ड लिया और उसे स्कैन कर उसमें ही दो नंबर बदलकर मां की जगह उसके बेटे की फोटो लगा दी. जब 15 मिनट में आधार लेकर पहुंचा तो सभी दंग रह गए. शक होने पर आरओ कोड स्कैन किया तो बच्चे की जगह मां की जानकारी सामने आई, जिससे फर्जी आधार कार्ड का खुलासा हो गया.
Loading...

मामला तूल पकड़ता देख लौटाए ग्रामीणों के पैसे : 

इसके बाद पीड़ित युवक लोगों के साथ दुकान पहुंचा, मामला तूल पकड़ता देख दुकानदार ने आधार बनाने लिए गए 520 रुपए उसे वापस कर दिए. इसके बाद आधार कार्ड देखने के बहाने लेकर उसे फाड़कर फेंक दिया. इसी बीच पखांजूर तहसीलदार भी दुकान पहुंचे और पीड़ित से बात कर दुकान को सील कर दिया.

आवेदन करने के 15 दिन बाद आता है आधार कार्ड

बता देें कि वर्तमान में राशन कार्ड के सत्यापन का काम चल रहा है, जो आगामी 29 जुलाई तक चलेगा. ऐसे में अगर आज आधार कार्ड बनाया भी जाए तो कार्ड घर पहुंचने में कम से कम 15 दिन तो लग ही जाएंगे.

ये जानना जरूरी: आधार कार्ड नहीं है तो भी हो सकता है राशन कार्ड का सत्यापन  :

बहरहाल, राशन कार्ड के नवीनीकरण को लेकर लोगों में भ्रम है कि आधार कार्ड अनिवार्य है. मामने में प्रभारी कलेक्टर संजय कन्नौजे की मानें तो जो राशन कार्ड पहले से बने हैं उन्हीं का सत्यापन करना है, नया राशन कार्ड नहीं बनाना है. राशन कार्डधारियों की दो सूची जारी की गई है. एक जिनके राशन कार्ड मुखिया के आधार से लिंक हैं वे अपना आधार कार्ड दिखाकर सत्यापन करा सकते हैं. दूसरी सूची उनकी है जिनके मुखिया के राशन कार्ड आधार से लिंक नहीं है.

लिहाजा, अगर मुखिया आधार लेकर आते हैं तो राशन कार्ड आधार से लिंक करना है, लेकिन जिनके आधार नहीं हैं उनके भी राशन कार्ड निरस्त नहीं होंगे. उन कार्डों का अलग से  सत्यापन किया जाएगा.

ये भी पढ़ें:- दिल्ली अपनी 'मां' को कभी भूल नहीं पाएगी: सीएम भूपेश बघेल 

ये भी पढ़ें:- सोनभद्र में हुआ आदिवासियों का नरसंहार: सीएम भूपेश बघेल
First published: July 21, 2019, 11:59 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...