• Home
  • »
  • News
  • »
  • chhattisgarh
  • »
  • Chhattisgarh: स्वास्थ्य विभाग की परीक्षा के पेपर आउट, 60-60 हजार रुपये में बिके पर्चे, विभाग में मचा हड़कंप

Chhattisgarh: स्वास्थ्य विभाग की परीक्षा के पेपर आउट, 60-60 हजार रुपये में बिके पर्चे, विभाग में मचा हड़कंप

छत्तीसगढ़ के स्वास्थ्य विभाक की परीक्षा से पहले पेपर लीक हो गए. दलाल एक-एक पेपर के 60 हजार रुपये ले रहे थे. (सांकेतिक तस्वीर)

छत्तीसगढ़ के स्वास्थ्य विभाक की परीक्षा से पहले पेपर लीक हो गए. दलाल एक-एक पेपर के 60 हजार रुपये ले रहे थे. (सांकेतिक तस्वीर)

Chhattisgarh: राज्य का स्वास्थ्य विभाग भ्रष्टाचार में फंसता नजर आ रहा है. विभाग में हड़कंप मचा हुआ है. विभाग को चार पदों के लिए परीक्षा लेनी थी. उससे पहले ही दलालों ने इसके पेपर लीक कर दिए. अभ्यर्थियों से 41 से 60 हजार रुपये की मांग की गई. इसकी रिकॉर्डिंग भी सामने आ गई है.

  • News18Hindi
  • Last Updated :
  • Share this:

    कांकेर. छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) के स्वास्थ्य विभाग में हड़कंप मचा हुआ है. विभाग में दलाल इतने सक्रिय हैं कि उन पर अधिकारियों का कोई नियंत्रण नहीं. ताजा मामले में दलालों ने विभाग के चार पदों के लिए होने वाली परीक्षा के पहले ही उसके पेपर आउट कर दिए. दलालों ने एक-एक प्रकार के पद के पेपर के लिए लोगों से 41 से 60-60 हजार रुपये लिए. इस मामले की कॉल रिकॉर्डिंग भी सामने आ गई है.

    जानकारी के मुताबिक, लोगों से पेपर की डीलिंग करने वाले लोग स्वास्थ्य विभाग के बाहर के हैं. इस मामले में उन लोगों पर शक की सुई घूम रही है, जिन्होंने ये पेपर सेट किए हैं. इनके अलावा दक्षिण बस्तर में पदस्थ एक चतुर्थ वर्ग श्रेणी के सरकारी कर्मचारी पर आशंका व्यक्त की जा रही है.  यह कर्मचारी परीक्षा के दौरान दलाली करने के लिए छुट्टी लेकर कांकेर जिला पहुंच गया. ये कर्मचारी अभ्यर्थियों से तीन लाख रुपये ले रहा है. इसका कहना है कि सीधे पद में भर्ती के लिए इसकी भर्ती समिति से सांठगांठ है. इसकी भी कॉल रिकॉर्डिंग अभ्यर्थियों ने कर रखी है. ऑडियो सामने आने के बाद भर्ती प्रक्रिया में की जा रही गड़बड़ी तो सामने आ गई है लेकिन इसमें कौन कौन अधिकारी कर्मचारी शामिल हैं उन्हें सामने लाने के लिए पूरे मामले की बारीकी व गंभीरता से निष्पक्ष जांच की जरूरत है।

    17 को हुई थी लिखित परीक्षा

    यहां से प्रकाशित अखबार दैनिक भास्कर के मुताबिक, स्टाफ नर्स, लेब टेक्नीशियन, फार्मासिस्ट तथा ड्रेसर की संविदा भर्ती के लिए पिछले साल 11 अगस्त को विज्ञापन निकाला गया था. 31 अगस्त तक आवेदन लिए गए. लेकिन, कोरोना के चलते साल भर बाद 1 अगस्त को पात्र-अपात्र की सूची निकाल 16 अगस्त तक दावा आपत्ति मंगाए गए थे. 8 सितंबर को अंतिम सूची निकाली गई. जिसके बाद 17 सितंबर को कॉलेज में पद के अनुरूप लिखित परीक्षा आयोजित की गई थी. इस दौरान दलाल सक्रिय हो गए. एक दलाल अभ्यर्थियों को इशारा कर रहा है कि इस मामले में सरकारी कर्मचारी भी शामिल है. इन्हें ही पैसा देना पड़ेगा. इसके बाद ही सेटिंग हो सकेगी.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज