आईपीएस मारपटी मामला, एसआई की वर्दी पर खून के निशान

एएसपी गोरखनाथ बघेल.
एएसपी गोरखनाथ बघेल.

कांकेर के कोतवाली पुलिस थाने में एसआई से मारपीट मामले में नया मोड़ आ गया है. एसआई की वर्दी पर खून के निशान मिले हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 20, 2018, 5:01 PM IST
  • Share this:
कांकेर के कोतवाली पुलिस थाने में एसआई से मारपीट मामले में नया मोड़ आ गया है. एसआई की वर्दी पर खून के निशान मिले हैं. मामले में पुलिस अधिकारियों का का कहना है कि एसआई का मानसिक संतुलन ठीक नहीं है. जबकि अस्पताल में भर्ती एसआई का कहना है कि मेरे साथ दो अधिकारियों को बुरी तरह से पीटा गया है. मामले में प्रशिक्षु आईपीएस चन्द्रमोहन सिंह पर आरोप है.

एएसपी नक्सल ऑपरेशन गोरखनाथ बघेल का कहना है कि एसआई संजय टोप्पो एक साल से बीमार है. हालांकि आईपीएस प्रशिक्षु चंद्रमोहन सिंह की मुश्किलें मारपीट के मामले में और बढ़ गई हैं. अब तक दबी जुबान से विभागीय कार्रवाई की मांग कर रहे एस आई टोप्पो ने मीडिया के सामने भी चन्द्रमोहन सिंह पर मारपीट के आरोप लगाए हैं.

टोप्पो का कहना है कि उसके साथ ही उसके दो साथियों को बुरी तरह से एएसपी चंद्रमोहन ने पीटा है.
कोतवाली थाने में पहुच कर चंद्रमोहन ने एस आई समेत 2 एस आई को चेम्बर में बुलाया और मारपीट शुरू कर दी. टोप्पो ने अपने को बचाने के लिए हाथों को आगे किया जिससे उसके हाथ, शरीर मे काफी चोट आई है. वर्दी में आईपीएस अफसर ने मारपीट किया.



खून के धब्बे वर्दी में देखे जा सकते हैं. इस पिटाई से उसका बीपी बढ़ गया है. हालत जब बिगड़ी तो भर्ती कराया गया है. आरोप है कि थाना में आईपीएस की इस दबंगई को अधिकारी सफ़ेद चादर से ढांकना चाह रहे है. एएसपी नक्सल ऑपरेशन गोरखनाथ बघेल ने मीडिया से कहा कि एसआई संजय टोप्पो मानसिक रूप से बीमार है. एक साल से इलाज चल रहा है। बीमारी के चलते छुट्टी पर भी अक्सर रहता है. सट्टे जुआ को लेकर एएसपी ने डांट फटकार लगाईं है। मारपीट नहीं हुई है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज