कुएं में गिरे तेंदुए को बचाने के लिए उतारी खाट, 3 घंटे बाद बाहर निकाला
Kanker News in Hindi

कुएं में गिरे तेंदुए को बचाने के लिए उतारी खाट, 3 घंटे बाद बाहर निकाला
कुएं में गिरे तेंदुए को बचाने के लिए उतारी खाट, 3 घंटे बाद बाहर निकाला

वन विभाग के दस्ते ने गांव पहुंचकर कुएं में गिरे तेंदुए को बाहर निकालने के लिए उसमें सीढ़ी डाली, लेकिन कई घटों से कुएं में तैरने के कारण तेंदुआ इतना थक गया था कि वो सीढ़ी पर चढ़ नहीं पाया. इसके बाद वनकर्मियों द्वारा एक खाट को रस्सी से बांधकर कुएं में डाला गया. काफी जद्दोजहद के बाद आखिरकार तेंदुए को बाहर निकाला जा सका.

  • Share this:
भीषण गर्मी में पानी की तलाश में जंगली जीव जंगलों से निकलकर इंसानी आबादी वाले इलाकों में आ रहे हैं. छत्तीसगढ़ के कांकेर जिले में नरहरपुर ब्लॉक के झलियामारी गांव में एक तेंदुआ घर की बाड़ी में बने कुएं में गिर गया. सुबह जब ग्रामीणों को इसका पता चला तो उन्होंने तत्काल इसकी सूचना वन विभाग को दी.

मंगलवार सुबह वन विभाग का अमला मौके पर पहुंचा. इस दौरान तेंदुए को कुएं से बाहर निकालने के लिए पहले कुएं में सीढ़ी डाली गई, लेकिन कई घटों से कुएं में तैरने के कारण तेंदुआ इतना थक गया था कि वो सीढ़ी पर चढ़ नहीं पाया. इसके बाद वनकर्मियों द्वारा एक खाट को रस्सी से बांधकर कुएं में डाला गया.

सुबह 8 बजे कुएं में डाली गई थी खाट 



वन विभाग की टीम ने गांव से एक खाट की व्यवस्था की और उसके चारों पायों को रस्सी से बांध दिया. फिर खाट को कुएं में उतारा गया. इसके बाद वनकर्मियों ने तेंदुए के खाट में बैठने इंतजार किया. लेकिन वो इससे दूर रहा. मगर 3 घंटे बाद आखिरकार थका-हारा तेंदुआ खाट पर बैठा और उसे बाहर निकाला गया.
जान बचाने वालों पर नहीं किया हमला

इस दौरान कुएं के चारों तरफ बड़ी संख्या में लोग मौजूद थे, लेकिन तेंदुए ने बाहर निकलने के बाद किसी पर भी हमला नहीं किया. मानो वो जान बचाने के लिए लोगों को थैंक्यू कर रहा हो. इसके बाद वो जंगलों की तरफ भाग गया.

ये भी पढ़ें:- सिनेमा हॉल में घुसा युवक, मैनेजर पर पेट्रोल डालकर लगाई आग 

ये भी पढ़ें:- छत्तीसगढ़ में बन सकते है 7 नये जिले, प्रशासनिक कवायद शुरू
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज