मोहन मंडावी: धार्मिक-सामाजिक सेवा के बूते संसद जाने की तैयारी, पूर्व किरायेदार से मुकाबला
Kanker News in Hindi

मोहन मंडावी: धार्मिक-सामाजिक सेवा के बूते संसद जाने की तैयारी, पूर्व किरायेदार से मुकाबला
मोहन मंडावी.

छत्तीसगढ़ में अनुसूचित जनजाति वर्ग के लिए आरक्षित कांकेर लोकसभा सीट बस्तर, रायपुर और दुर्ग संभाग के अलग जिलों का हिस्सा है.

  • Share this:
छत्तीसगढ़ में अनुसूचित जनजाति वर्ग के लिए आरक्षित कांकेर लोकसभा सीट बस्तर, रायपुर और दुर्ग संभाग के अलग जिलों का हिस्सा है. इस सीट पर बीजेपी ने वर्तमान पार्टी प्रदेश अध्यक्ष विक्रम उसेंडी की टिकट काटकर मोहन मंडावी को प्रत्याशी बनाया है. कांकेर लोकसभा सीट से प्रत्याशी बनाये जाने के समय मोहन मंडावी लोकसेवा आयोग के सदस्य थे, लेकिन उम्मीदवार घोषित होने के बाद उन्होंने इस पद से इस्तीफा दे दिया.

धार्मिक सामाजिक सेवा में सक्रिय मोहन मंडावी राष्ट्रीय स्वंयसेवक संघ से जुड़े हुए हैं. वे प्रसिद्व रामकथा मानस गायक हैं. इससे पहले साल 2015 में मोहन मंडावी को लोकसेवा आयोग का सदस्य बनाया गया था. भाजपा प्रत्याशी मोहन मंडावी और कांग्रेस प्रत्याशी बीरेश ठाकुर आपस में रिश्तेदार हैं. कुछ साल पहले तक मकान मालिक और किराएदार के तौर पर एक ही जगह गोविंदपुर में रहते थे. लोकसभा चुनाव में अब दोनों एक-दूसरे के सामने चुनावी मैदान में हैं.

File Photo.




कांग्रेस प्रत्याशी बीरेश ठाकुर का मूल निवास कोरर है. उनके दादा और पिता भानुप्रतापपुर से विधायक रह चुके हैं. कोरर में रहते हुए बीरेश ठाकुर नगर के पास गोबिंदपुर में जिस भवन में काफी दिनों तक किराए पर थे, उसके भवन के मालिक भाजपा प्रत्याशी मोहन मंडावी हैं. दोनों एक ही परिवार के दामाद हैं. दोनों की शादी ग्राम पंचायत शाहवाड़ा में एक ही परिवार में हुई है.
मोहन मंडावी ने अपने राजनीतिक जीवन की शुरुआत बीजेपी से ही की, लेकिन अब तक संगठन में कोई महत्वपूर्ण जिम्मेदारी उन्हें नहीं मिली थी. सामाजिक कार्यों में उन्होंने अपना अधिक समय गुजारा है. वे पहली बार सीधे चुनावी मैदान में हैं. इससे पहले उन्होंने कोई भी चुनाव नहीं लड़ा है.

ये भी पढ़ें: गुहाराम अजगले: जांजगीर में खुद के साथ बीजेपी की साख बचाने की चुनौती 

ये भी पढ़ें: चुन्नीलाल साहू: चर्चित सीट पर कांग्रेस के दिग्गज नेता को चुनौती 

ये भी पढ़ें: विजय बघेल: अब के सीएम भूपेश बघेल को दे चुके हैं मात, दुर्ग से दे रहे 'सरकार' को टक्कर 

ये भी पढ़ें: दीपक बैज: बस्तर के 'हीरो', 20 साल बाद रोकेंगे बीजेपी का विजय रथ! 
एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पाससब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स 
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज