टीचर पर लगा शराब पीकर स्कूल में आने का आरोप, आहत शिक्षक ने फांसी लगाकर दी जान
Kanker News in Hindi

टीचर पर लगा शराब पीकर स्कूल में आने का आरोप, आहत शिक्षक ने फांसी लगाकर दी जान
घर से लेकर निकले गमछे से शिक्षक ने लगाई फांसी, जेब में मिला सुसाइड नोट (सांकेतिक तस्वीर)

भानुप्रतापपुर में बीते गुरुवार की सुबह प्राथमिक स्कूल के एक शिक्षक ने फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली.

  • Share this:
छत्तीसगढ़ में कांकेर जिले के भानुप्रतापपुर में बीते गुरुवार की सुबह प्राथमिक स्कूल के एक शिक्षक ने फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली. इस दौरान रास्त से गुजर रहे राहगीरों को शिक्षक का शव पेड़ से लटकता हुआ मिला. इधर घटना की सूचना मिलते ही मौके पर पहुंची पुलिस को मृतक की जेब से एक सुसाइड नोट भी मिला है. शिक्षक के सुसाइड नोट में ग्रामीणों द्वारा प्रताड़ित करने की बात लिखी हुई है. फिलहाल, पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है.

शव को पेड़ से लटकता हुआ मिला

मिली जानकारी के मुताबिक भानुप्रतापपुर के बसंत नगर निवासी कार्तिक राम रामटेके प्राथमिक स्कूल बोगर में प्रधान पाठक थे. इस दौरान वे सुबह करीब 7.30 बजे घर से छाता और गमछा लेकर निकले थे, जिसके बाद वे घर नहीं लौटे. इस बीच ग्रामीणों ने शिक्षक के शव को पेड़ से लटकता हुआ देखकर तुरंत इसकी सूचना पुलिस को दी. शिक्षक का शव गमछे के सहारे पेड़ पर लटका हुआ था.



crime report-क्राइम रिपोर्ट
शव को पेड़ से लटकता हुआ मिला (सांकेतिक तस्वीर)

शांत स्वभाव के थे शिक्षक

इधर, मौके पर पहुंचते ही पुलिस ने मृतक के परिजनों को शिक्षक के आत्महत्या के बारे में जानकारी दी. घरवालों ने बताया कि वे शांत स्वभाव के थे और कभी किसी से ज्यादा बात नहीं करते थे.

ग्रामीणों की प्रताड़ना से परेशान था शिक्षक

वहीं मृतक की जेब से मिले सुसाइड नोट में स्कूल में शराब पीकर आने का आरोप लगाते हुए ग्रामीणों द्वारा प्रताड़ित करने की बात कही गई है. सुसाइड नोट में लिखा है कि उन्होंने कभी किसी को परेशान नहीं किया, लेकिन वो इस बात से भी व्यथित थे इसलिए आत्महत्या करने जैसा आत्मघाती कदम उठा लिया.

ये भी पढ़ें:- महिला ने नाबालिग से किया गलत काम, मिली 10 साल सश्रम कारावास

ये भी पढ़ें:- विश्व आदिवासी दिवस: आदिवासियों ने क्यों किया इस दिन का विरोध
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading