आदिवासी विकास विभाग पर पीएससी छात्र-छात्राओं का प्रोत्साहन राशि हड़पने का आरोप
Kanker News in Hindi

आदिवासी विकास विभाग पर पीएससी छात्र-छात्राओं का प्रोत्साहन राशि हड़पने का आरोप
परीक्षार्थी शैलेन्द्र सोरी

कांकेर कलेक्टर में आदिवासी विकास विभाग द्वारा पीएससी छात्र-छात्राओं का प्रोत्साहन राशि हड़पने का मामला सामने आया है. यहां पीएससी परीक्षा देने वाली सैकड़ों छत्राओं को मिलने वाली प्रोत्साहन राशि नहीं दिए जाने से परीक्षार्थी बेहद परेशान हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 21, 2018, 2:21 PM IST
  • Share this:
छत्तीसगढ़ के कांकेर कलेक्टर में आदिवासी विकास विभाग द्वारा पीएससी छात्र-छात्राओं का प्रोत्साहन राशि हड़पने का मामला सामने आया है. यहां पीएससी परीक्षा देने वाली सैकड़ों छत्राओं को मिलने वाली प्रोत्साहन राशि नहीं दिए जाने से परीक्षार्थी बेहद परेशान हैं. मामला साल 2011-12 का है, जहां यहां के आदिवासी छात्रों द्वारा पीएससी परीक्षा दिया गया.

नियम के अनुसार आदिवासी छात्र द्वारा पीएससी परीक्षा देने वालों को 10 हजार रुपए प्रोत्साहन के रूप में शासन की ओर से हर छात्र को दिया जाता है, लेकिन शासन द्वारा स्वीकृत राशि इतने दिन बीत जाने के बाद भी कांकेर आदिवासी विभाग द्वारा छात्र को आज तक नहीं दिया गया.

वहीं परीक्षा देने वाले छात्रों ने आरोप लगाते हुए कहा कि जब उन्हें प्रोत्साहन राशि नहीं मिली, तो न जाने और कितनों को यह राशि नहीं मिली होगी. ऐसे में अब वे तंग आकर कलेक्टर ऑफिस के चक्कर लगाने बंद कर दिए हैं जबकि इस रकम के लिए उनके द्वारा सारी दस्तावेज आयुक्त कार्यालय में जमा किए जा चुके हैं.



बहरहाल, इस संबंध में आदिवासी विभाग के आयुक्त से पूछे जाने पर उन्होंने कुछ भी कहने से साफ मना कर दिया. निश्चित रूप से इस मामले को जांच करने पर कई और बड़े खुलासे सामने आने की संभावनाएं हैं.
साल 2011-12 में पीएससी परीक्षा में बैठने वाले परीक्षार्थी शैलेन्द्र सोरी ने कहा कि साल 2012 में प्रीलिम्स क्लियर करने पर प्रोत्साह राशि के लिए रायपुर में फॉर्म भरा था. तब पैसे अकाउंट में नहीं आएं. स्थिति यह है कि 2012 के बाद से अब तक वो पैसे उन्हें मिले ही नहीं हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज