अपना शहर चुनें

States

जिस सरकारी स्कूल से सीएम ने की पढ़ाई वहीं कलेक्टर ने अपनी बेटी का कराया एडमिशन

4 साल के कोर्स में दाखिला मिला: सुदीक्षा के पिता बुलंदशहर में धूम मणिकपुर गांव में एक चाय की दुकान चलाते हैं. 2009 में पैसे की तंगी से सुदीक्षा को स्कूल छोड़ना पड़ा था, लेकिन उनकी कड़ी मेहनत और समर्पण के दम पर अब वह अमेरिका (मैसाचुसेट्स) के प्रतिष्ठित बॉब्सन कॉलेज में 4 साल के आंत्रप्रेन्योरशिप कोर्स में दाखिला लेने जा रही हैं. बॉब्सन कॉलेज अमेरिका के मशहूर आंत्रप्रेन्योरशिप कॉलेजों में से एक है.
4 साल के कोर्स में दाखिला मिला: सुदीक्षा के पिता बुलंदशहर में धूम मणिकपुर गांव में एक चाय की दुकान चलाते हैं. 2009 में पैसे की तंगी से सुदीक्षा को स्कूल छोड़ना पड़ा था, लेकिन उनकी कड़ी मेहनत और समर्पण के दम पर अब वह अमेरिका (मैसाचुसेट्स) के प्रतिष्ठित बॉब्सन कॉलेज में 4 साल के आंत्रप्रेन्योरशिप कोर्स में दाखिला लेने जा रही हैं. बॉब्सन कॉलेज अमेरिका के मशहूर आंत्रप्रेन्योरशिप कॉलेजों में से एक है.

इसी स्कूल से मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने भी अपनी प्राथमिक शिक्षा ली थी.

  • Share this:
कवर्धा कलेक्टर अवनीश कुमार शरण ने अपनी बेटी वेदिका का एडमिशन नगर के सरकारी स्कूल में कराया है. शिक्षा सत्र के पहले दिन वे अपनी पत्नी के साथ नगर के प्रमुख प्राथमिक शाला पहुंचे. जहां उन्होंने प्रधान पाठक के कक्ष में बैठकर सामान्य पालकों की तरह दाखिला कराया. उसके बाद बेटी को लेकर क्लास रूम तक गए और दूसरे बच्चों के साथ बिठाया.

कलेक्टर कलेक्टर अवनीश की इस पहल का प्रधान पाठक प्रभात गुप्ता ने स्वागत किया. प्रभात गुप्ता का कहना है कि दूसरे लोग इससे प्रेरणा लेंगे. उनका कहना है कि इस स्कूल से कई हस्तियां पढ़कर निकली हैं जिनमें प्रमुख नाम सूबे के मुखिया डॉ. रमन सिंह का भी है. मुख्यमंत्री ने इसी स्कूल में प्राथमिक शिक्षा ग्रहण किए था.

सरकारी स्कूल से बच्चों का मोहभंग होता देख कलेक्टर अवनीश कुमार शरण ने अपनी बेटी दाखिला सरकारी स्कूल में कराया. कवर्धा का ये प्राथमिक शाला जिले का पहला इंग्लिश मीडियम स्कूल है जहां इस सत्र से कक्षा पहली में अंग्रेजी माध्यम से पढ़ाई होगी.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज