करोड़ों खर्च करने का बाद भी कवर्धा में सड़कों का हाल बेहाल
Kawardha News in Hindi

पंडरिया विधानसभा के वनांचल ग्राम छिंदीडीह से सेंदूरखार तक सड़क बनाई जा रही है. सड़क का निर्माण प्रधानमंत्री ग्राम सड़क विभाग करा रहा है. करीब 11 किमी की सड़क का निर्माण 7 करोड़ 79 लाख की लागत से किया जा रहा है. लेकिन सड़क निर्माण का काम शुरू होते ही बंद हो गया.

  • Share this:
छत्तीसगढ़ के कवर्धा जिले में सड़कों पर पानी की तरह पैसा बहाया जा रहा है, लेकिन गुणवत्ता में कमी के चलते सड़क समय से पहले खराब हो रही है. गौरतलब हो कि पंडरिया विधानसभा के वनांचल ग्राम छिंदीडीह से सेंदूरखार तक सड़क बनाई जा रही है. सड़क का निर्माण प्रधानमंत्री ग्राम सड़क विभाग करा रहा है. करीब 11 किमी की सड़क का निर्माण 7 करोड़ 79 लाख की लागत से किया जा रहा है. लेकिन सड़क निर्माण का काम शुरू होते ही बंद हो गया. जितना भी निर्माण कार्य हुआ है उसकी भी गुणवत्ता सही नहीं है. इस सड़क का निर्माण कार्य डेढ़ साल से रूका हुआ है, जिससे ग्रामीणों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है.

(ये भी पढ़ें: VIDEO: स्वाइन फ्लू से पिछले 10 दिनों में दो की मौत, अलर्ट जारी )
बरसात के दिनों में खासकर वनांचल क्षेत्रों में कनेक्टिविटी का एक महत्वपूर्ण जरिया सड़क ही होता है. बारिश के मौसम में नदी,नालों में पुल न होने के चलते आवागमन बाधित रहता है. कई गांव बारिश में पूरी तरह से कट जाते हैं. स्कूल जाने वाले बच्चों से लेकर शहर राशन लाने आने वाले ग्रामीणों तक बारिश में काफी दिक्कतों का सामना करते है. लेकिन न तो ठेकेदार को और ना विभाग को इसकी परवाह है.

(ये भी पढ़ें: कोरबा में 45 प्रत्याशियों ने 24 दिन में खर्च किए 1 करोड़ 28 लाख रुपए )



ग्रामीणों के मुताबिक वनांचल के पटपर मेन रोड से छिंदीडीह होते हुए सेंदूरखार तक करीब ग्यारह किमी की सड़क का निर्माण किया जाना है. इसके लिए दो साल का समय निर्धारित था लेकिन डेढ़ साल का समय बीत जाने के बाद भी ठेकेदार 50 प्रतिशत काम भी नहीं कर सका. अब इस लेटलतिफी का खामियाजा ग्रामीणों को भुगतना पड़ रहा है. लोगों का पैदल चलना भी मुश्किल हो गया है. इससे पहले एक साल तक घाट कटिंग का काम किया गया जिससे वे परेशान रहे. कुल मिलाकर ग्रामीण तीन सालों से परेशानी झेल रहे है.



(ये भी पढ़ें:छत्तीसगढ़ में पेट्रोल से भी महंगा हुआ डीजल, इस दर पर हो रही बिक्री )

सड़क निर्माण में देरी को लेकर राजनीतिक दलों का भी अपना तर्क है. इस मामले पर युवक कांग्रेस उपाध्यक्ष तुकाराम चंद्रवंशी का कहना है कि ठेकेदार की मनमानी और अधिकारियों की उदासिनता का खामियाजा जनता भुगत रही है. अगर जल्द निर्माण कार्य शुरू नहीं हुआ तो कांग्रेस उग्र आंदोलन करेगी. तो वहीं स्थानीय विधायक और संसदीय सचिव मोतीराम चंद्रवंशी का कहना है कि बारिश के चलते काम रूका होगा. जल्द ही अधिकारियों से बात कर काम शुरू करने को लेकर निर्देशित किया जाएगा.

(ये भी पढ़ें: वोटिंग के दौरान वीडियो बनाने वाले भवानी सिंह पर FIR दर्ज, पूर्व मंत्री के हैं बेटे )
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading