Home /News /chhattisgarh /

कवर्धा में दो महीने से बैगा आदिवासी परिवारों को नहीं मिल रहा है नमक!

कवर्धा में दो महीने से बैगा आदिवासी परिवारों को नहीं मिल रहा है नमक!

फाइल फोटो

फाइल फोटो

छत्तीसगढ़ के कवर्धा जिले में चना, नमक वितरण को लेकर लापरवाही बरतने का मामला सामने आया है. बीते दो माह से बैगा-आदिवासी परिवारों को योजना का लाभ नहीं मिल रहा है.

    छत्तीसगढ़ के कवर्धा जिले में चना, नमक वितरण को लेकर लापरवाही बरतने का मामला सामने आया है. बीते दो माह से बैगा-आदिवासी परिवारों को योजना का लाभ नहीं मिल रहा है. मिली जानकारी के अनुसार बीते सत्र फरवरी-मार्च चना, नमक का वितरण किया गया है. इसके बाद इस माह का वितरण नहीं हो पाया है. मौजूदा सत्र अप्रैल-मई के लिए अब तक आबंटन ही प्राप्त नहीं हो सका है. जिसके चलते वनांचल क्षेत्र में चिह्नित परिवारों को इस योजना के तहत मिलने वाला लाभ नहीं मिल पा रहा है.

    योजना का लाभ नहीं मिलने से हितग्राहियों में नाराजगी देखी जा रही है. गौरतलब है कि जिले के बोड़ला जनपद पंचायत अंतर्गत 59 पंचायतों में चना वितरण योजना लागू है, जिसमें माडा योजना के तहत चिह्नांकित आदिवासी, बैगा परिवार को प्रतिकार्ड दो किलो चना व एक किलो नमक प्रदान किया जाता है, लेकिन विभागीय उदासिनता के चलते इस योजना का लाभ अधर में लटकता दिख रहा है. भाजपा ने तो कांग्रेस पर आरोप भी लगाया है कि कांग्रेस सरकार इस योजना को बंद कर दी है. वो दिखावे के लिए आदिवासी परिवारो की हितैषी हैं.

    भाजपा नेता श्रीकांत उपाध्याय का कहना है कि 100 दिन में ही भूपेश सरकार का असली रंग दिखने लगा है. वही मामले में खाद्य अधिकारी अनिल सिदार का कहना है कि आबंटन न मिलने की वजह से इस माह वितरण नहीं किया जा सका है. अप्रैल-मई का आबंटन एक साथ आएगा, आते ही वितरित करेंगे. योजना के बंद होने जैसी बातों को अफवाह बताते हुए लिखित में कोई आदेश न आने की बात अनिल सिदार ने कही है.
    ये भी पढ़ें: पब्जी गेम की लत में बच्चे ने किया ऐसा काम कि पुलिस को करना पड़ा गिरफ्तार 
    ये भी पढ़ें: कोरबा में घरेलु विवाद में पति ने पत्नी पर किया जानलेवा हमला, पत्नी की हालत नाजुक 
    ये भी पढ़ें: खुलासा: चाचा भतीजी पर रखता था गलत नियत, विरोध करने पर बेरहमी से कर दी हत्या 
    क क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स

    Tags: Chhattisgarh news, Raipur news, Tribals of chhattisgarh

    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर